scorecardresearch
 

रिलायंस ने कृष्‍णा-गोदावरी बेसिन में उत्‍पादन शुरू किया

देश की सबसे बड़ी निजी कंपनी रिलायंस इंडस्‍ट्रीज लिमिटेड ने कृष्‍णा-गोदावरी (के-जी) बेसिन में उत्‍पादन शुरू किया. कंपनी के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने रविवार को इसकी जानकारी दी.

रिलायंस इंडस्‍ट्रीज रिलायंस इंडस्‍ट्रीज

देश तेल क्षेत्र की सबसे बड़ी निजी कंपनी रिलायंस इंडस्‍ट्रीज लिमिटेड ने कृष्‍णा-गोदावरी (के-जी) बेसिन में उत्‍पादन शुरू कर दिया है. कंपनी के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने रविवार को इसकी जानकारी दी.

शुरुआत में इस बेसिन से प्रतिदिन 5000 बैरल तेल निकाला जाएगा, जिसे अगले छह तिमाही में बढ़ाकर 5,50,000 बैरल कर लिया जाएगा. इसके बाद भारत का घरेलू तेल उत्‍पादन बढ़कर 40 फीसदी हो जाएगा.

अंबानी के अनुसार कंपनी गहरे पानी से खुदाई करने वाली विश्‍व की सबसे बड़ी कंपनी बनने पर विचार कर रही है. साथ ही उम्‍मीद की जा रही है कि के-जी बेसिन से गैस का उत्‍पादन 2009 की पहली तिमाही में शुरू हो जाएगा. अंबानी ने कहा कि इससे भारत के आयात में 1,00,000 करोड़ रुपये की कमी आएगी.

गैस को 4.2 डालर प्रति मिलियन ब्रिटिश थर्मल यूनिट (एमएमबीटीयू) के न्‍यूनतम दाम पर बेचा जाएगा.

इस के-जी बेसिन को लेकर अंबानी बंधुओं, मुकेश अंबानी और अनिल अंबानी के बीच बंबई हाई कोर्ट में अदालती लड़ाई चल रही है. इसकी अगली सुनवाई 30 सितंबर को होनी है. मुकेश अंबानी ने कहा कि रिलायंस इंडस्‍ट्रीज यूरेनियम खनन में भी उतरेगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें