scorecardresearch
 

रामनाथ कोविंद का बिहार राज्यपाल पद से इस्तीफा, 23 जून को भरेंगे नामांकन

रामनाथ 23 जून को सुबह 11 बजे राष्ट्रपति पद के लिए नामांकन दाखिल करेंगे. रामनाथ कोविंद के बिहार के राज्यपाल पद से इस्तीफा देने के बाद पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी को अतिरिक्त प्रभार दिया गया है.

X
कोविंद ने दिया इस्तीफा
कोविंद ने दिया इस्तीफा

भारतीय जनता पार्टी की ओर से राष्ट्रपति उम्मीदवार बने रामनाथ कोविंद ने मंगलवार को बिहार के राज्यपाल के पद से इस्तीफा दे दिया है. राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने उनका इस्तीफा भी मंजूर कर लिया है. वहीं, रामनाथ 23 जून को सुबह 11 बजे राष्ट्रपति पद के लिए नामांकन दाखिल करेंगे. रामनाथ कोविंद के बिहार के राज्यपाल पद से इस्तीफा देने के बाद पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी को अतिरिक्त प्रभार दिया गया है.

नामांकन के दौरान मौजूद रहेंगे मोदी
रामनाथ कोविंद के नामांकन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, चंद्रबाबू नायडू, प्रकाश सिंह बादल, वहीं कई अन्य बीजेपी शासित राज्यों के सीएम, बीजेपी पार्लियामेंट्री बोर्ड के सदस्य, सीनियर केंद्रीय मंत्री भी मौजूद रहेंगे. इससे पहले मंगलवार को भी रामनाथ कोविंद दिल्ली में ही थे, यहां उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की.

नीतीश करेंगे समर्थन
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी राष्ट्रपति चुनाव के मुद्दे पर अपनी पार्टी की बैठक बुलाई है. सूत्रों की मानें, तो नीतीश कुमार रामनाथ कोविंद का समर्थन कर सकते है.

गौरतलब है कि अभी विपक्ष ने इस मुद्दे पर कोई फैसला नहीं लिया है. कांग्रेस के नेतृत्व में कई विपक्षी पार्टियां 22 जून को बैठक करेंगी. जिसके बाद कोई फैसला लिया जा सकता है. हालांकि अभी तक की परिस्थितियों को देखें, तो रामनाथ कोविंद का अगला राष्ट्रपति बनना तय ही नज़र आ रहा है.

विपक्ष की ओर से ये 4 नाम चर्चा में
अगर विपक्ष की बात करें तो राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए के प्रत्याशी रामनाथ कोविंद के खिलाफ विपक्ष संयुक्त उम्मीदवार उतार सकता है. वाम दलों में सूत्रों ने सोमवार की रात यह बात कही. गैर-एनडीए दलों के 22 जून को इस मुद्दे पर चर्चा के लिए बैठक करने की उम्मीद है. सूत्रों के अनुसार पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार, पूर्व केंद्रीय मंत्री सुशील कुमार शिंदे, भारिपा बहुजन महासंघ के नेता और डॉ. बी आर अंबेडकर के पौत्र प्रकाश यशवंत अंबेडकर, राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के पौत्र और सेवानिवृत नौकरशाह गोपालकृष्ण गांधी और कुछ अन्य नामों पर विपक्षी पार्टियां विचार कर रही हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें