scorecardresearch
 

मोदी सरकार के पांव कब्र में लटके, वाड्रा से ले रहे प्रत‍िशोध: सुरजेवाला

कांग्रेस प्रवक्‍तारणदीप सिंह सुरजेवाला ने मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा क‍ि मोदी सरकार के पांव कब्र में लटके हैं, पर बेलगाम व निरंकुश बादशाह को बादशाहत ऐसी चढ़ी है कि नियम, कानून, संविधान सब ताक पर रख पांव तले रौंद रहे हैं. पांच राज्यों में स्पष्ट हार का सामना कर रहे प्रधानमंत्री मोदी अपने पुराने आपराधिक हथकंडोंपर उतर आए हैं.

रणदीप सिंह सुरजेवाला (Photo:Twitter) रणदीप सिंह सुरजेवाला (Photo:Twitter)

एक तरफ राजस्‍थान व‍िधानसभा के ल‍िए मतदान हो रहा था दूसरी तरफ  प्रवर्तन न‍िदेशालय (ED) की टीम रॉबर्ट वाड्रा के दफ्तर पहुंच गई. हालांक‍ि वे दफ्तर में मौजूद नहीं थे लेक‍िन इस पर कांग्रेस नेताओं ने कड़ी  नाराजगी जताई. बीजेपी पर न‍िशाना साधते हुए कांग्रेस प्रवक्‍तारणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा क‍ि मोदी सरकार न‍िरंकुश हो गई है. 

सुरजेवाला ने कहा, 'मोदी सरकार के पांव कब्र में लटके हैं, पर बेलगाम व निरंकुश बादशाह को बादशाहत ऐसी चढ़ी है कि नियम –कानून–संविधान सब ताक पर रख पांव तले रौंद रहे हैं. पांच राज्यों में स्पष्ट हार का सामना कर रहे प्रधानमंत्री मोदी अपने पुराने आपराधिक हथकंडोंपर उतर आए हैं. रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ बदले व प्रतिशोध की भावना से रेड करवाओ और भाजपा की हार से ध्यान भटकवाओ.'

रणदीप सिंह ने आगे कहा, 'सीबीआई, इनकम टैक्स व ईडी अब स्वतंत्र जांच ऐजेंसी की भूमिका की बजाए मोदी जी के निजी गुलाम व राजनीतिक दलाल की तरह काम कर रहे हैं, उन्हें न नियम कायदों की कद्र है और न ही राजनीतिक शुचिता की चिंता. दूसरी तरफ मोदी जी प्रधानमंत्री कीबजाए अब एक ‘डॉन’ की भूमिका में हैं तथा अपने गरिमामय पद का दुरुपयोग राजनीतिक विरोधियों के प्रति बदला लेने के लिए कर रहे हैं.'

कांग्रेस प्रवक्‍ता ने कहा क‍ि क्या आपने ऐसी सरकार देखी है;

-जो जनता की गाढ़ी कमाई लेकर भागने वाले भगोड़ों के लिए रेड कारपेट बिछाए.

-मेहुल भाई के लिए एंटीगुआ में नागरिकता का इंतजाम करे.

-ललित भाई को पूरा सहयोग और दुनिया घूमने की सुविधा दे.

-लाखों-करोड़ रुपए के बैंक घोटालों पर आंख मूंद ले.

दरअसल, बादशाह ने दीवारों पर लिखी इबारत साफ पढ़ ली है और अपनी सल्तनत से जनता की बेरुखी भी भांप ली है. 5 राज्यों में विपक्ष को जीतता देख कर पूरी भाजपा और इनके नेता बौखलाहट में हैं. जनता अब इनसे सवाल करने लगी है कि...

- हमें 15 लाख रुपए दिलवाओ.

- हमें 2 करोड़ सालाना रोजगार दिलवाओ.

- हमें फसलों की दोगुनी कीमत दिलवाओ.

- हमें 1000 की बजाए 350 रुपए के गैस सिलेंडर दिलवाओ.

- हमें 40 रुपए की कीमत पर पेट्रोल और डीजल दिलवाओ.

इन प्रश्नों को सुनकर बेलगाम बादशाह के पांव तले जमीन खिसक गई और पसीने छूट गए, फिर क्या था? रातों-रात फरमान जारी हुआ, नए मुद्दे खोजे गए, जनता को गुमराह करने वाले मुद्दे. कहीं दंगे कराए गए, कहीं लोगों को आपस में लड़वाया गया और उसी फेहरिस्त में पुराने मनगढ़ंतकेसों को जबरदस्ती खंगाला गया और बदले की भावना से उन्हें निर्दोष लोगों पर मढ़ दिया गया. आज की घटना भी मोदी सरकार की उसी आपराधिक मानसिकता के तौर-तरीके से जुड़ी है. सत्यमेव जयते!

गौरतलब है क‍ि प्रवर्तन निदेशालय ने सितंबर, 2015 में राजस्थान के बीकानेर में जमीन सौदे के मामले पर केस दर्ज किया था. ईडी बीकानेर में 360 एकड़ जमीन सौदे की जांच कर रहा है. वाड्रा ने यह जमीन बीकानेर के कोलायत इलाके में खरीदी थी, लेकिन बाद में बेच दी. राजस्थानसरकार इस सौदे को पहले ही रद्द कर चुकी है. आरोप है कि जमीन गलत तरीके से निजी क्षेत्र को दी गई. हालांकि आरोपियों में वाड्रा का नाम नहीं है, लेकिन उनकी कंपनी स्काइलाइट हॉस्पिटैलिटी का नाम है, जिसने जमीन खरीदी और बाद में बेची थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें