scorecardresearch
 

पीयूष गोयल बोले- नहीं होगा रेलवे का निजीकरण, PPP पर विचार

रेलवे के निजीकरण की खबरों पर केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने बयान दिया है. उन्होंने कहा कि सरकार रेलवे का निजीकरण करने नहीं जा रही है.

केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल (फाइल फोटो-ANI) केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल (फाइल फोटो-ANI)

  • रेलवे का नहीं होगा निजीकरण
  • रेलवे में निवेश बढ़ाना सरकार का लक्ष्य
  • रेलवे के आधुनिकिकरण पर सरकार का जोर

रेलवे के निजीकरण की खबरों पर केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने बयान दिया है. उन्होंने कहा कि सरकार रेलवे का निजीकरण करने नहीं जा रही है.  हमारा लक्ष्य रेलवे में बड़ी मात्रा में निवेश करना है, इसके लिए हम पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप पर विचार कर रहे हैं. साथ ही हम विश्व की आधुनिकतम तकनीक को रेलवे से जोड़ेंगे.

हाल ही में ऐसे खबरें आई थीं कि रेल मंत्रालय ने 50 रेलवे स्टेशनों और 150 ट्रेनों के निजीकरण के लिए एक कमेटी बनाई है. निजीकरण को लेकर नीति आयोग ने रेलवे बोर्ड के चेयरमैन को एक खत भी लिखा. इस खत में 400 रेलवे स्टेशनों को विश्व स्तर का बनाए जाने को लेकर जिक्र है.

क्या है मामला?

ऐसे खबरें सामने आई थीं जिनमें कहा गया था कि रेल मंत्रालय ने 50 रेलवे स्टेशनों और 150 ट्रेनों के निजीकरण के लिए एक कमेटी बनाई है. इस कमेटी में नीति आयोग के सीईओ, रेलवे बोर्ड के चेयरमैन, डिपार्टमेंट ऑफ इकोनॉमिक अफेयर्स के सेक्रेटरी, मिनिस्ट्री आफ हाउसिंग एंड अर्बन अफेयर्स के सेक्रेटरी और फाइनेंशियल कमिश्नर (रेलवे) शामिल हैं.

रेलवे 150 ट्रेनों का संचालन प्राइवेट कंपनियों को देने की तैयारी में है . बताया गया था कि इस बारे में रेल मंत्रालय ने फैसला ले लिया है.

नीति आयोग ने लिखा पत्र

निजीकरण को लेकर नीति आयोग ने रेलवे बोर्ड के चेयरमैन को एक खत लिखा था. इस खत में 400 रेलवे स्टेशनों को विश्व स्तर का बनाए जाने को लेकर जिक्र किया गया था . इसमें कहा गया था कि कई साल से ऐसी बातें की जाती रही हैं लेकिन वास्तव में इक्का-दुक्का स्टेशनों को छोड़कर इसको कहीं भी कार्यान्वित नहीं किया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें