scorecardresearch
 

आजतक के सवाल पर राहुल बोले- 1 दिन के लिए पत्रकार बनना चाहता हूं

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आरोप लगाया  कि प्रधानमंत्री ने एक अपराध को छिपाने के लिए कई अपराध किए हैं और  सीबीआई  निदेशक को हटाया जाना गैरकानूनी है.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (फोटो: ट्विटर @INCIndia) कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (फोटो: ट्विटर @INCIndia)

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को राफेल डील और सीबीआई में घमासान के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की खामोशी पर सवाल खड़े किए. राहुल ने पत्रकारों से कहा कि आप पीएम को जहां मैं बैठा हूं बैठा दीजिए, मैं आपके साथ बैठकर एक दिन के लिए पत्रकार बन जाऊंगा और राफेल पर 2-3 सवाल पूछूंगा. पीएम जवाब जवाब नहीं दे पाएंगे.

फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांसवा ओलांद के बयान का जिक्र करते हुए राहुल ने कहा कि ओलांद ने साफ कहा है कि मुझे पीएम की तरफ से कहा गया कि अनिल अंबानी को कॉन्ट्रैक्ट देना है. राहुल ने कहा कि एक बात पर गौर कीजिए इतना सब कुछ हो गया लेकिन प्रधानमंत्री एक बार भी नहीं बोले. कांग्रेस अध्यक्ष ने पत्रकारों से कहा कि मैं आपके सामने बैठा हूं आप जो भी सवाल करते हैं उनका जवाब देता हूं. आप एक बार प्रधानमंत्री को मेरी जगह बैठा दीजिए और राफेल पर 3-4 सवाल पूछिए, मै दावा करता हूं वो एक भी सवाल का जवाब नहीं दे पाएंगे और टेबल छोड़कर भाग जाएंगे.  

सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजे जाने की कार्रवाई को सीधे राफेल मामले से जोड़ते हुए राहुल गांधी ने आरोप लगाया सीबीआई राफेल मामले की जांच शुरू करने वाली थी इसलिए रात के दो बजे दफ्तर में छाप मारकर निदेशक के कमरे को सील किया गया और जरूरी दस्तावेज कब्जे में लिए गए.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि सीबीआई के चीफ को हटाने का काम तीन लोगों की कमेटी करती है, जिसमें पीएम, नेता प्रतिपक्ष और चीफ जस्टिस शामिल होते हैं. पीएम ने बिना इनके मशवरे के सीबीआई के मुखिया को हटाया. यह जनता का अपमान है, संविधान का अपमान है, चीफ जस्टिस का अपमान है. और इन सबसे बढ़कर यह गैरकानूनी है.

राहुल ने कहा तथ्य साफ है आम तौर पर सरकार कुछ खरीदती है तो टेंडर होता है, राफेल मामले में टेंडर हुआ और दसॉ को काम मिला, लेकिन प्रधानमंत्री फ्रांस गए और टेंडर रद्द कर दूसरी डील कर आए. राहुल ने कहा कि यह ओपन एंड शट केस है, प्रधानमंत्री अनुभवी आदमी हैं वो जानते हैं कि यदि सीबीआई जांच करेगी तो वो बच नहीं पाएंगे. इसलिए राफेल मामले में सीबीआई से जांच कराना आत्महत्या करने समान होता, इसलिए प्रधानमंत्री ने सीबीआई की हत्या कर दी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें