scorecardresearch
 

JNU विवाद: राष्ट्रपति से मिले कांग्रेस नेता, राहुल गांधी बोले- देशभक्ति मेरे खून में है

राहुल गांधी ने कहा कि वर्तमान में जो भी आरएसएस या केंद्र सरकार के खिलाफ बोलने की कोशिश करता है उसे कुचलने की कोशिश की जा रही है.

X
2:25

जेएनयू विवाद पर लगातार बढ़ रहे गतिरोध को लेकर राहुल गांधी के नेतृत्व में गुरुवार को कांग्रेस नेताओं के एक डेलीगेशन ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मुलाकात की. राष्ट्रपति से मुलाकात के बाद राहुल गांधी ने कहा कि देश भक्ति उनके खून में है. अगर किसी ने देश के खिलाफ कुछ भी कहा है तो उस पर कार्रवाई होनी चाहिए.

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा, 'देश भक्ति मेरे खून में है, मेरे दिल में है. अगर कोई देश के खिलाफ आवाज उठाता है तो उसे सजा मिलनी चाहिए.' उन्होंने कहा कि आरएसएस के लोग जबरन अपनी विचारधारा लोगों पर थोपना चाहते हैं जो सही नहीं है.

'एक की गलती की सजा सब को क्यों?'
राहुल गांधी ने कहा कि वर्तमान में जो भी आरएसएस या केंद्र सरकार के खिलाफ बोलने की कोशिश करता है उसे कुचलने की कोशिश की जा रही है.

उन्होंने कहा कि किसी एक की गलती की सजा पूरे संस्थान को नहीं दी जानी चाहिए. राहुल ने कहा, 'आरएसएस को हम अभिव्यक्ति की आजादी नहीं छीनने देंगे. मैंने अपने परिवार को देश के लिए बलिदान देते देखा है.'

'पूरी दुनिया में देश की छवि खराब हुई है'
कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि जिस तरह पुलिस की आंखों के सामने वकीलों और नेताओं ने छात्रों और पत्रकारों से मारपीट की उससे दुनिया भर में देश की छवि खराब हुई है. यही वजह है कि कांग्रेस ने राष्ट्रपति से मुलाकात करके मामले में हस्तक्षेप की मांग की है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें