scorecardresearch
 

भारत जल्द फाइनल कर सकता है राफेल डील, 60 हजार करोड़ में होगा 36 लड़ाकू विमानों का सौदा

फ्रांस के साथ 36 लड़ाकू विमानों का सौदा 60 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा में होने की उम्मीद जताई जा रही है. राफेल डील पर अंतिम मुहर जल्द ही लगाई जाएगी.

जल्द ही राफेल डील होगी फाइनल जल्द ही राफेल डील होगी फाइनल

फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद की भारत यात्रा से पहले ही भारत राफेल डील पर अंतिम मुहर लगाने जा रहा है. रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों ने 36 लड़ाकू विमानों का सौदा 60 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा होने की उम्मीद जताई है. ओलांद इस बार गणतंत्र दिवस पर भारत के मुख्य अतिथि हैं.

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल समेत एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल इस डील पर बात करने के लिए इस वक्त फ्रांस में है. पिछले साल भारत के राफेल विमान खरीदने के फैसले में डोभाल की महत्वपूर्ण भूमिका रही थी. जानकारी मिली है कि ऑफसेट और हथियारों के पैकेज सहित डील के ज्यादातर बिंदुओं पर सहमति बन चुकी है.

सही लागत का खुलासा बाकी
दोनों सरकारों के बीच डील फाइनल होने के बाद ही सौदे की सही लागत का खुलासा किया जाएगा. इस प्रक्रिया से जुड़े अफसरों ने इस डील में 60 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की लागत आने का अनुमान लगाया है.

36 महीनों के भीतर मिलेगी पहली खेप
फ्रांस से 36 राफेल लड़ाकू विमानों की सप्लाई सात साल में पूरी होगी. इन्हें भारतीय वायुसेना में शामिल किया जाना है. समझौते के मसौदे के मुताबिक राफेल विमानों की पहली खेप समझौते पर हस्ताक्षर होने के 36 महीनों के भीतर भारत को मिल जाएगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें