scorecardresearch
 

औरंगजेब हैं बीजेपी के पीएम कैंडिडेट नरेंद्र मोदी! मुझे बनना है अशोक की तरहः राहुल गांधी

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने इशारों में साफ कर दिया है कि उन्हें देश का प्रधानमंत्री बनने से परहेज नहीं है वहीं उनकी बहन प्रियंका गांधी वाड्रा के चुनावी राजनीति में शामिल होने की संभावना नहीं है.

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने इशारों में साफ कर दिया है कि उन्हें देश का प्रधानमंत्री बनने से परहेज नहीं है, वहीं उनकी बहन प्रियंका गांधी वाड्रा के चुनावी राजनीति में शामिल होने की संभावना नहीं है.

हिंदी अखबार 'दैनिक भास्कर' को दिए इंटरव्यू में राहुल गांधी ने कहा है कि उनके बारे में यह गलत अवधारणा है कि वो जिम्मेदारी से भागते हैं. वे हमेशा जिम्मेदारी लेने के लिए तैयार हैं. फैसला कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व को करना है, जो जिम्मेदारी मिली है या मिलेगी, उसे निभाएंगे.

पीएम पद पर बोले राहुल, जो जिम्मेदारी मिलेगी निभाऊंगा
राहुल गांधी ने कहा, 'कांग्रेस एक लोकतांत्रिक पार्टी है. देश का पीएम कौन होगा ये जनता अपने चुने हुए प्रतिनिधियों द्वारा तय करेगी. देश की भलाई के लिए कांग्रेस का जीतना जरूरी है. इसके बाद संगठन ने जो जिम्मेदारी दी है या आगे देगी, मैं उसे निष्ठा के साथ निभाऊंगा.'

प्रियंका गांधी की चुनावी राजनीति में कोई भूमिका नहीं
राहुल गांधी ने कहा कि प्रियंका गांधी उनकी बहन होने के साथ एक दोस्त भी हैं. वे कांग्रेस की एक कार्यकर्ता हैं, इसी नाते वो संगठन को और मजबूत करने के लिए मेरी मदद कर रही हैं. मुझे नहीं लगता कि उनकी कोई चुनावी भूमिका होगी.

राहुल गांधी के निजी शौक
कांग्रेस उपाध्यक्ष को स्विमिंग और रनिंग का शौक है. वे मेडिटेशन के अलावा एकिडो जापानी मार्शल आर्ट्स की प्रैक्टिस करते हैं. उनका मानना है कि मानसिक तौर पर फिट होने के लिए शारीरिक रूप से फिट होना जरूरी है. इसके अलावा राहुल गांधी को टेक्नोलॉजी में बहुत दिलचस्पी है.

इशारों में नरेंद्र मोदी की तुलना औरंगजेब से की
एक सवाल के जवाब में राहुल गांधी ने कहा कि भारत में सम्राट अशोक हुए. अकबर हुए. औरंगजेब रहा. सम्राट अशोक जोड़ने के लिए प्रसिद्ध हुए. अकबर ने भी लोगों को जोड़ा. तो उनके नाम अलग ही सम्मान के साथ लिए जाते हैं. औरंगजेब का नाम अलग तरह से लिया जाता है.

बीजेपी बनी एक व्यक्ति की पार्टी
‘कांग्रेस मुक्त भारत’ के नारे के लिए बीजेपी की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा, ‘बीजेपी आज एक व्यक्ति केंद्रित शासन चाहती है जो देश हित में नहीं है. देश पर शासन किसी एक व्यक्ति विशेष के विचारों और उसके तौर तरीकों से नहीं चलाया जाना चाहिए. देश के 120 करोड़ लोगों के भविष्य को सबको साथ लेकर ही आकार दिया जा सकता है और सुधारा जा सकता है.’

इस देश के डीएनए में कांग्रेस
उन्होंने कहा कि ‘कांग्रेस इस देश के डीएनए में समायी हुई है. बीजेपी, कांग्रेस मुक्त भारत की बात कर रही है. वह यह नहीं समझती कि कांग्रेस एकमात्र राजनीतिक ताकत है जिसने इस देश की जनता को एकजुट रखा है,’

आम आदमी पार्टी ने मेरी बातों पर अमल कियाः राहुल गांधी
राहुल गांधी ने कहा कि आम आदमी पार्टी ने उन्हीं चीजों को अमल किया जिसकी वकालत वे करते रहे हैं. इसके अलावा वे केजरीवाल की पार्टी के काम करने के तरीकों से भी सहमत नहीं हैं. आम आदमी पार्टी से सीखने के सवाल पर उन्होंने कहा, 'हमारी पार्टी एक गतिशील संगठन है. हमने पहले भी राजनीति के तौर-तरीकों को बदला है. मैं जब से राजनीति में आया हूं तब से ये बातें उठाई हैं. इनमें से कुछ बातों को उन्होंने अमल में लाया. पर कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के काम करने का तरीका अलग-अलग है. इसके अलावा मैं उनके काम करने के रवैये से पूरी तरह से सहमत नहीं हूं. मेरे हिसाब से कोई भी फैसला करने से पहले नजदीकी फायदे से ज्यादा भविष्य के बारे में सोचना ज्यादा जरूरी.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें