scorecardresearch
 

निजी संस्‍थान भी कर सकेंगे स्‍वाइन फ्लू की जांच

केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री गुलाम नबी आजाद ने सोमवार को निजी संस्‍थानों को भी स्‍वाइन फ्लू की जांच करने के निर्देश जारी कर दिए. क्‍या सरकार सही कदम उठा रही है?

X
गुलाम नबी आजाद गुलाम नबी आजाद

देश में लगातार पांव पसार रहे स्‍वाइन फ्लू को लेकर केंद्र सरकार पूरी तरह सक्रिय हो गई है. इसी के मद्देनजर केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री गुलाम नबी आजाद ने सोमवार को निजी संस्‍थानों को भी इस बीमारी की जांच करने के निर्देश जारी कर दिए. इससे पहले केवल गिने चुने सरकारी अस्‍पताल ही इसकी जांच कर सकते थे.

523 लोगों को अस्‍पताल से मिली छुट्टी
आजाद ने यह भी माना कि देश में स्‍वाइन फ्लू के 864 मामले हैं और अब तक 6 लोगों की मौत इस बीमारी की चपेट में आने से हो चुकी है. आजाद ने बताया कि 341 लोगों का इलाज विभिन्‍न अस्‍पतालों में रहा चल है जबकि 523 लोगों की अस्‍पताल से छुट्टी दे दी गई है. आजाद ने यह भी कहा कि एयरपोर्ट पर थर्मल स्‍कैनर लगाए जाएंगे जिससे दूसरे देशों से आने वाले लोगों के जरिए यह बीमारी हमारे देश में और ना फैल सके. उन्‍होंने हालांकि यह स्‍वीकार किया कि स्‍वाइन फ्लू देश भर में फैल रहा है साथ ही उन्‍होंने लोगों से अपील की क‍ि वो डरें नहीं बल्कि ए‍हतियात बरतें.

जांच किट आयात करेगी सरकार
स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने जानकारी दी कि जांच किट की कमी से निपटने के लिए सरकार 20000 किट का आयात करेगी. साथ ही उन्‍होंने यह भी कहा कि सभी मरीजों की जांच का खर्च केंद्र सरकार वहन करेगी. आजाद ने बताया कि जिला अस्‍पतालों को टैमी फ्लू दवायियां नियमित रूप से मुहैया कराई जा रही हैं. उन्‍होंने कहा कि एच1एन1 वायरस की जांच में समय लगता है और यह एक महंगी प्रक्रिया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें