scorecardresearch
 

PAK: मीरपुर माथेलो में पुलिस ने 50 हजार में हिंदू लड़की को बेचा, धर्म बदलवाकर जबरन निकाह

पाकिस्तान के सिंध प्रांत के शहर मीरपुर माथेलो में अनिला बागरी नामक एक हिंदू लड़की को पुलिस कर्मचारी ने अपने दोस्त के हाथों बेच दिया. घोटकी जिले के मीरपुर माथेलो पुलिस स्टेशन के हेड क्लर्क ने अपने दोस्त जफर मसूरी के साथ 50 हजार पाकिस्तानी रुपये में लड़की का सौदा किया. मसूरी ने तीन दिन बाद उस लड़की का जबरदस्ती धर्म बदलवा कर निकाह कर लिया.

'सिंबल ऑफ टेरर मियां मिट्ठू' को पकड़ने के लिए सिंध में आंदोलन 'सिंबल ऑफ टेरर मियां मिट्ठू' को पकड़ने के लिए सिंध में आंदोलन

पाकिस्तान के सिंध प्रांत के शहर मीरपुर माथेलो में अनिला बागरी नामक एक हिंदू लड़की को पुलिस कर्मचारी ने अपने दोस्त के हाथों बेच दिया. घोटकी जिले के मीरपुर माथेलो पुलिस स्टेशन के हेड क्लर्क ने अपने दोस्त जफर मसूरी के साथ 50 हजार पाकिस्तानी रुपये में लड़की का सौदा किया. मसूरी ने तीन दिन बाद उस लड़की का जबरदस्ती धर्म बदलवा कर निकाह कर लिया.

'आज तक' के पास है निकाहनामे की कॉपी
जानकारी के मुताबिक मसूरी ने जो निकाहनामा बनवाया है वह अवैध है. उस पर कोई गवाहनामा नहीं है और वह लड़की अनिला बागरी अब शाइमा मसूरी बन चुकी है. उस निकाहनामा की कॉपी 'आज तक/इंडिया टुडे' के पास है. अनिला बागरी को अगवा कर लिया गया था. बाद में पुलिस ने उसे बरामद किया था.

लोकल मीडिया में इस मामले की खबर में आने के बाद घोटकी के एसएसपी मसूद बंगेश ने हेड क्लर्क सज्जाद काजी को जांच पूरी होने तक सस्पेंड कर दिया है. 'आज तक' टीम ने एसएसपी बंगेश से संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन वह उपलब्ध नहीं हुए.

पाकिस्तान में हिंदुओं का कोई मानवाधिकार नहीं
स्थानीय हिंदू युवक राजकुमार ने 'आज तक' से बात करते हुए बताया कि पाकिस्तान में हिंदू लड़की को अगवा करना, रेप-गैंगरेप करना या जबरदस्ती धर्म परिवर्तन करके शादी करना रूटीन है. साल 1947 से यहां यही होता आ रहा है. यहां की यही सोच है कि हिंदुओं को निकाला जाए और पाकिस्तान को सिर्फ एक इस्लामिक देश बनाया जाए. अनिला बागरी का मामला इसी का हिस्सा है.

डर के साए में है कई पीड़ितों का परिवार
पाकिस्तान का मीरपुर माथेलो वही इलाका है जहां कुछ साल पहले हिंदू लड़की रिंकल कुमारी का धर्म बदलवाकर जबरन निकाह करने का मामला पाकिस्तान के साथ-साथ पूरे विश्व के मीडिया में छाया हुआ था. अभी कुछ दिन पहले ही वहां सतीश कुमार नाम के हिंदू लड़के की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

अनिला बागरी के माता-पिता ने आरोप लगाया है कि मीरपुर माथेलो पुलिस के हेड क्लर्क ने इनसे भी बेटी को छोड़ने के एवज में 50 हजार रुपये की मांग की. इसके विरोध में स्थानीय लोगों ने सड़क पर उतरकर प्रदर्शन भी किया. लोगों ने जफर मसूरी से उनकी बेटी वापस दिलवाने की मांग की.

इस मामले पर 'आज तक' ने जब एक एनजीओ और पाकिस्तान के पत्रकारों के माध्यम से लड़की के माता-पिता से संपर्क करने कोशिश की तो उन्होंने फोन और कैमरा पर आने से मना कर दिया. एनजीओ के मुताबिक लड़की के परिवार वाले इतना डरे हुए हैं कि वह कुछ बोलना नहीं चाह रहे. इस घटना से पूरे मीरपुर माथेलो में तनाव बना हुआ है.

हिंदू संगठनों ने कहा- कार्रवाई नहीं करती सरकार
ऑल पाकिस्तान हिंदू पंचायत के जनरल सेक्रटरी रवि डावानी ने कहा कि पाकिस्तान में अरसे से हिंदू लड़कियों का धर्म परिवर्तन करवाया जाता है. ऐसे कई वाकए हैं. रिंकल का है, अंजलि का है, शोभा का है. उन्होंने कहा कि मसला नामों का नहीं है, मसला यह है कि इसको हल कैसे किया जाए. हमने पुलिस से और सरकार से रिक्वेस्ट की है पर सपोर्ट नहीं मिल पा रहा है.

डावानी ने कहा कि ऐसे और कई मामले सामने आ रहे हैं. इसमें साजिश नजर आई है कि हिंदू समुदाय को परेशान किया जाय और यहां से निकाल दिया जाए. लेकिन हमलोग यही रहेंगे. हम सरकार से अनुरोध करते हैं कि हमारे बच्चों को, हमारे परिवार को महफूज रखा जाए.

सांसद भी बोले- मीरपुर माथेलो में क्या नहीं होता है?
सत्तारूढ़ पार्टी पीएमएल नवाज के एमपी डॉ. रमेश वंकवानी ने कहा कि इस तरह से लड़कियों का जबरदस्ती धर्म परिवर्तन कराना इंसानियत के खिलाफ है. इस पर कंट्रोल होना चाहिए. मैं तो कह-कह कर थक गया हूं, लेकिन कुछ होता ही नहीं. यह सब को पता है कि मीरपुर माथेलो में क्या होता है. वहां लड़कियों का धर्म परिवर्तन कराकर 50 हजार या एक लाख रुपये में बेचा जाता है. आज ही मैंने एक ऐसे ही मामले में हाई कोर्ट की मदद से एक लड़की को छुड़ाया है.

पाकिस्तान में आम है महिलाओं पर जुल्म
वैसे भी पाकिस्तान में पुलिस की ओर से औरतों पर जुल्म करना आम बात है. ऐसे ही एक मामले में सेक्स रैकेट के केस में पकड़ी गई एक महिला को एक पुलिस वाले ने पुलिस स्टेशन में ही मारना शुरू कर दिया. साथ ही खूब गाली गलौज भी की.

पाकिस्तान में हिंदू और लड़की होना खतरनाक
पाकिस्तान में हिंदू होना और उस पर हिंदू लड़की होना कितना बड़ा खतरा है, ये किसी से छिपा नहीं है. पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकार नजम सेठी ने एक निजी चैनल से बात करते हुए बताया था कि अगर मुल्ला का बस चले तो ये जानवरों को भी इस्लाम कबूल करवा दें. इनकी कट्टरता की वजह से ही पाकिस्तान पूरी दुनिया में बदनाम हो रहा है.

आतंक का सरगना है 'सिंबल ऑफ टेरर मियां मिट्ठू'
इस बार भी अनिला बागरी के मामले में 'सिंबल ऑफ टेरर मियां मिट्ठू' जैसे लोग पर फिर से ऊंगली उठ रही है. पाकिस्तान में हिंदू लड़कियों का जबरदस्ती धर्म परिवर्तन करवा रहे हैं. उसकी असलियत खुद वहां की जनता और मीडिया दुनिया के सामने लाती रही है.

पाकिस्तान में उबाल पर है अल्पसंख्यकों का गुस्सा
पाकिस्तान की गली-गली और शहर-शहर में इन दिनों हिंदुओं का गुस्सा उबाल पर है. इस गुस्से के केंद्र बिंदु में हैं पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के पूर्व सांसद पीर अब्दुल हक. जिन्हें पाकिस्तान में मियां मिट्ठू के नाम से भी जाना जाता है. माना जाता है कि पाकिस्तान में हिंदुओं के धर्म परिवर्तन का ठेका इन्हीं मियां मिट्ठू ने उठाया हुआ है. मियां मिट्ठू को हिंदुओं और खासकर हिंदू लड़कियों का अपहरण करवाकर उनका जबरदस्ती धर्म परिवर्तन करवाने में महारत हासिल है. उनके खिलाफ 117 मामले दर्ज हैं.

अभी 11 अगस्त को पाकिस्तान में अल्पसंख्यक दिवस मनाया गया. तो पाकिस्तान के हर शहर में हिंदू आबादी ने सड़कों पर उतर कर प्रदर्शन किया था और खुद पर हो रही ज्यादातियों के खिलाफ आवाज बुलंद भी की थी. तब हिंदू आबादी का दर्द फूट पड़ा था.

मीडिया की आवाज- लड़की को इंसाफ नहीं मिलेगा
आवामी आवाज के डिप्टी एडिटर असद चांडियो ने बताया कि सिंध प्रांत में हिंदू बच्चियों को मजहब बदलकर जबरदस्ती शादी करवाना आम बात है. पहले यह काम पीर मियां मिठ्ठू जैसे लोग करते थे और अब यह काम यहां की पुलिसवाले भी कर रहे हैं. हिंदू लड़कियों को 50-50 हजार रुपये में बेचा जा रहा है. मैं जानता हूं कि उस लड़की को इंसाफ नहीं मिलेगा. अनिला बागरी के मामले पर पुलिस की भूमिका संदिग्ध है. यहां का निजाम भी ऐसा है की वह उन्हें ही मदद करते हैं जो हिंदू लड़कियों को अगवा करते हैं. जबरन निकाह करवाते हैं.

चांडियो ने कहा कि पाकिस्तान की 20 करोड़ की आबादी में सिर्फ 10 फीसदी गैर मुस्लिम अल्पसंख्यक हैं. जिसमें से ज्यादातर हिंदू हैं. पाकिस्तान सरकार और फौज के लिए वहां के हिंदू किसी जानवर की तरह हैं. जिन पर जुल्म ढाने में पाकिस्तान अपनी शान समझता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें