scorecardresearch
 

PNB घोटाला: भगोड़े नीरव मोदी की लंदन की अदालत में पेशी आज

पीएनबी घोटाले के आरोपी नीरव मोदी ने अपनी निरंतर हिरासत के खिलाफ लंदन की एक अदालत में जमानत याचिका दायर करते हुए घर में ही हिरासत में रखने की अपील की थी. हालांकि वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट ने नीरव की याचिका खारिज करते हुए उसकी हिरासत 11 नवंबर तक बढ़ा दी थी.

नीरव मोदी (फाइल फोटो) नीरव मोदी (फाइल फोटो)

  • पीएनबी घोटाले में आरोपी है नीरव मोदी
  • नीरव मोदी 19 मार्च से जेल में है बंद

पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाले के आरोपी भगोड़े नीरव मोदी की आज यानी सोमवार को लंदन की अदालत में पेशी है. वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट की जज नीना टेम्पिया ने नीरव मोदी की जमानत याचिका खारिज करते हुए उसकी हिरासत 11 नवंबर तक बढ़ी दी थी. अब तक पांच बार नीरव मोदी की जमानत अर्जी खारिज हो चुकी है.

क्या डिप्रेशन में है नीरव मोदी?

पीएनबी से जुड़े 13,500 करोड़ रुपये के धोखाधड़ी मामले में आरोपी नीरव मोदी को भारत की अपील पर प्रत्यर्पण वारंट जारी होने के बाद लंदन पुलिस ने मार्च में गिरफ्तार किया था. नीरव मोदी ने पांच बार जमानत अर्जी खारिज होने के बाद दावा किया है कि वह डिप्रेशन में है.

कोर्ट ने 11 नवंबर तक बढ़ाई थी नीरव मोदी की हिरासत

नीरव मोदी ने अपनी निरंतर हिरासत के खिलाफ लंदन की एक अदालत में जमानत याचिका दायर करते हुए घर में ही हिरासत में रखने की अपील की थी. हालांकि वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट ने नीरव की याचिका खारिज करते हुए उसकी हिरासत 11 नवंबर तक बढ़ा दी थी. जिसके बाद नीरव मोदी को आज फिर कोर्ट में पेशी होगी.

नीरव मोदी को 19 मार्च को किया गया था गिरफ्तार

पीएनबी घोटाले के आरोपी नीरव मोदी को 19 मार्च को होलबोर्न से गिरफ्तार किया गया था. नीरव मोदी और उसके चाचा मेहुल चोकसी के खिलाफ 13,500 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का आरोप है. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) इस मामले की जांच कर रही है. नीरव मोदी पर भगोड़े आर्थिक अपराधी अधिनियम (एफईओ) के तहत भी आरोप लगे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें