scorecardresearch
 

सरकार का पता नहीं, संसद में राष्ट्रपति के अभिभाषण की तैयारी

देश में लोक सभा चुनाव हो रहे हैं और अभी यह स्पष्ट नहीं है कि किसकी सरकार बनेगी. लेकिन इसके बावजूद लोकसभा के अधिवेशन में राष्ट्रपति के अभिभाषण की तैयारी शुरू हो गई है. एक अंग्रेजी अखबार ने यह खबर दी है.

भारतीय संसद भारतीय संसद

देश में लोकसभा चुनाव हो रहे हैं और अभी यह स्पष्ट नहीं है कि किसकी सरकार बनेगी. लेकिन इसके बावजूद लोकसभा के अधिवेशन में राष्ट्रपति के अभिभाषण की तैयारी शुरू हो गई है. एक अंग्रेजी अखबार ने यह खबर दी है.

प्रधानमंत्री कार्यालय ने सभी मंत्रालयों को इस आशय का एक पत्र भेजा है. इसमें कहा गया है कि इसके लिए वे सामग्री देने की तैयारी रखें. यह कभी भी मांगा जा सकता है.

राष्ट्रपति का संसंद के दोनों सदनों में भाषण दरअसल सरकार की पहली नीतिगत घोषणा होगी. यह अभिभाषण जून के पहले हफ्ते में होगा क्योंकि लोकसभा को पहली जून तक गठित हो जाना चाहिए. उसके दो-तीन दिनों के बाद यह अभिभाषण होता है. 2009 में यह 4 जून को पढ़ा गया था.

सूत्रों ने अखबार को बताया कि यह तैयारी पहले से इसलिए की जाती है कि नई सरकार के आ जाने के बाद सब कुछ आसानी से हो. नई सरकार का काम ठप न हो इसलिए इस तरह की व्यवस्था की जा रही है. प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव पुलक चटर्जी ने हाल ही में यह चिट्ठी भेजी है.

लेकिन यहां एक समस्या है. वह यह कि भाषण के लिए सामग्री देने में हर मंत्रालय अपने कार्यों और उपलब्धियों का गुणगान करना चाहता है. इसके अलावा वे सरकार की वर्तमान नीतियों के बारे में लिखते हैं. अब अगर सरकार बदल गई तो फिर सब कुछ नया करना पड़ेगा.

बताया जाता है कि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने अपने कार्यालय से कहा है कि वे हर तरह की सामग्री तैयार रखें. इसमें कई संवेदनशील मुद्दे भी शामिल हैं. इन्हें अलग रखना संभव नहीं है. प्रधानमंत्री ने अपने प्रधान सचिव और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार से भी कहा है कि वे नए प्रधानमंत्री को कम से कम समय में दस्तावेज और सूचनाएं मुहैया कराएं. इस पर काम शुरू हो चुका है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें