scorecardresearch
 

कोझिकोड विमान हादसे में 18 की मौत, मुआवजे का ऐलान

विमान हादसा लैंडिंग के दौरान हुआ. हालांकि, गनीमत रही कि इस दौरान विमान में आग नहीं लगी. हादसे के फौरन बाद बचाव का काम शुरू कर दिया गया.

स्थिति का जायजा लेते विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन (फोटो-आजतक) स्थिति का जायजा लेते विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन (फोटो-आजतक)

  • लैंडिंग के वक्त विमान फिसल कर 35 फीट गहरी खाई में गिरा
  • मौके पर राहत और बचाव का काम जारी, हटाया जा रहा मलबा
  • दुबई से कोझीकोड आ रहे इस विमान में कुल 190 लोग थे सवार

केरल के कोझिकोड में बड़ा विमान हादसा हुआ है. इसमें पायलट और को-पायलट समेत 18 लोगों की मौत हो गई. दुबई के आया एयर इंडिया एक्सप्रेस का विमान लैंडिंग के वक्त फिसल गया और 35 फीट गहरी खाई में जा गिरा. इस हादसे में विमान के दो दुकड़े हो गए जिसमें पायलट और को-पायलट की भी मौत हो गई. विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने शनिवार सुबह कोझिकोड पहुंच कर स्थिति का जायजा लिया.

नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी शनिवार को कोझिकोड एयरपोर्ट पर पहुंचे, जहां शुक्रवार शाम को विमान क्रैश कर गया था. स्थिति का जायजा लेने के बाद हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि गनीमत थी 10 साल पहले मैंगलोर हादसे की उलट इस बार विमान में आग नहीं लगी वरना और अधिक नुकसान होता. वहीं सीएम पी विजयन ने मौके का दौरा करने के बाद पीड़ितों के लिए मुआवजे का ऐलान किया. मुख्यमंत्री ने मृतकों के परिजनों के लिए 10 लाख रुपये और घायलों को फ्री ट्रीटमेंट मुहैया कराने का ऐलान किया.

एयर इंडिया एक्सप्रेस ने हादसे के पीड़ितों के लिए अंतरिम मुआवजे का ऐलान किया है. एयर इंडिया एक्सप्रेस ने मृतकों के परिजनों को 10 लाख, 12 साल से कम उम्र के मरने वाले यात्रियों को 5 लाख, गंभीर रूप से घायलों 2 लाख और घायल यात्रियों को 50 हजार रुपये देने की घोषणा की है.

इस बीच, विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने कहा कि शनिवार सुबह कालीकट एयरपोर्ट पर घटनास्थल का दौरा किया. एयर इंडिया और एयरपोर्ट अथॉरिटी के अधिकारियों ने बताया कि घटना कैसे हुई. घटना के विभिन्न पहलुओं का पता लगाने के लिए जांच जारी है.

बहरहाल, नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में बताया कि इस हादसे में दो पायलटों समेत 18 लोगों की मौत हुई है. यह दुर्भाग्यपूर्ण है. 127 लोग अस्पतालों में भर्ती हैं. शुक्रवार को कोझिकोड इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया. अगर विमान में आग लग गई होती तो हमारा काम और भी मुश्किल हो जाता. मैं हवाई अड्डे (करीपुर में कोझिकोड इंटरनेशनल एयरपोर्ट) जा रहा हूं.

कैसे हुआ हादसा

असल में, वंदे भारत मिशन के तहत एयर इंडिया एक्सप्रेस AXB1344, बोइंग 737 दुबई से कोझीकोड आ रहा था. दुबई से 184 यात्रियों और 2 पायलट समेत क्रू के 6 सदस्यों को लेकर कोझिकोड पहुंचा एयर इंडिया एक्सप्रेस का विमान रनवे को पार करता हुआ दीवार से टकराया और दो टुकड़ों में बंट गया. हादसे के बाद अफरा-तफरी मच गई. राहत और बचाव का काम शुरू हो गया.

ये भी पढ़ें-केरल हादसाः बारिश में रनवे पर फिसला और दो टुकड़ों में बंट गया विमान

डीजीसीए के डीजी के मुताबिक कम से कम 170 लोग सुरक्षित हैं. लेकिन विमान के पायलट और को-पायलट की इस हादसे में मौत हो गई. वहीं केबिन क्रू के चार सदस्य सुरक्षित बचा लिए गए. केरल के डीजीपी ने बताया कि 18 लोगों की मौत हुई है. कुछ लोग मलबे में भी फंस गए थे. हादसे की पुख्ता वजह जांच के बाद सामने आएगी लेकिन शुरुआती जानकारी के मुताबिक विमान रनवे को पार कर गया. विमान में 10 नवजात बच्चे भी सवार थे.

दरअसल, कोझिकोड का रनवे ज्यादा लंबा नहीं है. बताया जा रहा है कि विजिबिलिटी कम थी. भारी बारिश हो रही थी. रनवे पर भी पानी भरा था. ऐसे में दुबई से उड़ान भरने वाला एयर इंडिया का विमान शाम को करीब 7 बजकर 41 मिनट पर कोझिकोड पहुंचा था.

ये भी पढ़ें-क्या है वंदे भारत मिशन, जिसमें दुबई से आ रहा प्लेन हुआ क्रैश

हादसा लैंडिंग के दौरान हुआ. हालांकि, गनीमत रही कि इस दौरान विमान में आग नहीं लगी. हादसे के फौरन बाद बचाव का काम शुरू कर दिया गया. सबसे पहले एयरपोर्ट पर तैनात सीआईएसएफ के जवानों ने रेस्क्यू का काम शुरू किया. कुछ देर बात एनडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंची. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हालात की जानकारी के लिए केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन से बात की.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें