scorecardresearch
 

लोकसभा: कांग्रेस सांसद ने बीजेपी MP पर लगाया जान से मारने का आरोप, स्पीकर से की शिकायत

कांग्रेस सांसद मणिकम टैगोर ने आजतक से बातचीत में कहा कि बीजेपी ने उनके ऊपर झूठे आरोप लगाए हैं. बीजेपी नेताओं की तरफ से हाथापाई की कोशिश की गई थी.

X
कांग्रेस सांसद मणिकम टैगोर
कांग्रेस सांसद मणिकम टैगोर

  • हंगामे के बाद लोकसभा की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित
  • कांग्रेस सांसद ने लोकसभा स्पीकर से लिखित शिकायत की
  • बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह पर लगाया आरोप
बजट सत्र के दौरान लोकसभा में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के बयान पर जमकर हंगामा हुआ. इसके बाद बीजेपी-कांग्रेस के नेता आमने-सामने आ गए और सदन की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित कर दी गई. एक तरफ संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कांग्रेस सांसद मणिकम टैगोर की हरकत को 'गुंडागर्दी' की पराकाष्ठा करार दिया. वहीं, दूसरी तरफ कांग्रेस सांसद मणिकम टैगोर ने लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला से लिखित शिकायत की है. उन्होंने कहा कि भाजपा सांसद बृजभूषण शरण ने उन्हें आज सदन में जान से मारने की धमकी दी.

कांग्रेस सांसद मणिकम टैगोर ने आजतक से बातचीत में कहा कि बीजेपी ने उनके ऊपर झूठे आरोप लगाए हैं. बीजेपी नेताओं की तरफ से हाथापाई की कोशिश की गई थी. इस दौरान एक महिला सांसद उकसा रही थीं, जिसके बाद इस तरीके की घटना हुई. डॉ हर्षवर्धन ने राहुल गांधी के सवालों का जवाब नहीं दिया था, जो केरल के वायनाड के स्वास्थ्य से जुड़ा हुआ था.

मणिकम ने कहा कि जवाब देने की जगह डॉक्टर हर्षवर्धन दिल्ली के चुनाव को लेकर बातचीत करने लगे, जिसका हमने विरोध किया था. उन्होंने कहा कि स्पीकर के पास हम लोग भी गए थे. उनसे मुलाकात की और हमने भी हर्षवर्धन से माफी की मांग की है.

ये भी पढ़ेंः Parliament LIVE: लोकसभा में धक्कामुक्की के बाद बैठक, कांग्रेस ने स्पीकर से की शिकायत

बता दें कि लोकसभा में शुक्रवार को भाजपा और कांग्रेस के सांसदों के बीच जमकर नोकझोंक हुई. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन जब राहुल गांधी द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर की गई 'डंडा' टिप्पणी की निंदा प्रस्ताव पढ़ रहे थे तब मणिकम टैगोर ने उनसे पेपर छीनने की कोशिश की, जिसके बाद दोनों पार्टियों के नेता आमने-सामने आ गए. फिर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला के आसन के पास सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों के नेता पहुंच गए. 

ये भी पढ़ेंः बोडो समझौते का जश्न, पीएम बोले- मुझपर लोगों का आशीर्वाद, डंडों का असर नहीं

दिनभर के लिए कार्यवाही स्थगित

हंगामे के बाद, ओम बिड़ला ने सदन की कार्यवाही दोपहर एक बजे तक के लिए स्थगित कर दी. प्रश्नकाल के दौरान यह सब देखने को मिला. बाद में सदन की कार्यवाही फिर शुरू हुई, लेकिन हंगामा थमता नहीं देखकर इसे दोपहर दो बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया, लेकिन दो बजे बैठक शुरू होने के बाद भी जब हंगामा नहीं रुका तब सदन की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित कर दी गई.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें