scorecardresearch
 

FDI पर संसद में गतिरोध जारी, संसद फिर दिनभर के लिए स्थगित

एफडीआई के मुद्दे पर विपक्ष के लगातार हंगामे के चलते लगातार तीसरे दिन सोमवार को भी संसद की कार्यवाही बाधित रही. नतीजतन संसद को मंगलवार तक के लिए स्थगित कर दिया गया.

एफडीआई के मुद्दे पर विपक्ष के लगातार हंगामे के चलते लगातार तीसरे दिन सोमवार को भी संसद की कार्यवाही बाधित रही. नतीजतन संसद को मंगलवार तक के लिए स्थगित कर दिया गया.

बहु-ब्रांड खुदरा में विदेशी प्रत्यक्ष निवेश (एफडीआई) और सब्सिडी वाले रसोई गैस सिलेंडरों की संख्या सीमित किए जाने के केंद्र सरकार के फैसले के विरोध में जारी हंगामे के चलते दोनों सदनों की कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी. सुबह दोनों सदनों का प्रश्नकाल बाधित रहने के बाद राज्यसभा व लोकसभा की कार्यवाही दोपहर 12 बजे दोबारा शुरू हुई लेकिन विपक्ष ने सरकार के दो महीने पहले किए गए इन दो फैसलों के विरोध में नारेबाजी शुरू कर दी.

दोनों सदनों में विपक्ष के व्यवधान के बाद उन्हें दिनभर के लिए स्थगित कर दिया गया. वैसे सदनों में थोड़ा-बहुत कामकाज हुआ.

इससे पहले राज्यसभा व लोकसभा में कार्यवाही शुरू होते ही विपक्षी सदस्यों ने नारेबाजी शुरू कर दी. शीतकालीन सत्र के लगातार तीसरे दिन प्रश्नकाल नहीं चल सका.

विपक्ष ने दोनों सदनों में खुदरा में एफडीआई के मुद्दे पर वोटिंग कराने की मांग करते हुए कार्यवाही बाधित की. लोकसभा में सब्सिडी वाले रसोई गैस सिलेंडरों की संख्या सीमित किए जाने के मुद्दे पर भी विरोध हुआ.

हंगामे के चलते लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार व राज्यसभा अध्यक्ष हामिद अंसारी को दोपहर 12 बजे तक के लिए कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी.

लोकसभा की कार्यवाही दोबारा शुरू होने पर तृणमूल कांग्रेस सदस्य अध्यक्ष के आसन के नजदीक पहुंच गए और विरोध प्रदर्शित करने लगे। परिणामस्वरूप कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी.

राज्यसभा में भी समाजवादी पार्टी (सपा) के सदस्यों ने अध्यक्ष के आसन के नजदीक पहुंचकर पदोन्नति में आरक्षण के खिलाफ नारेबाजी की.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें