scorecardresearch
 

पाकिस्‍तान भेज रहा न दिखने वाले आतंकी, BSF ने शुरू की जांच

BSF सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान घुसपैठ कराने के लिए हीट रजिस्टेंस ड्रेस का इस्तेमाल करने में जुटा हुआ है. सूत्र यह बताते हैं कि पाकिस्तान ने इस तरीके की तकनीक को बाहर से न लाकर अपने देश में ही डेवलप किया है.

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

भारत के अंदर आतंक की तबाही मचाने के लिए पाकिस्तान रोज नए-नए कारनामे सीमा के उस पार और पाक अधिकृत कश्मीर में करता रहता है. अब पाकिस्तान आतंकियों की घुसपैठ कराने की नई चाल रच रहा है. बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स (बीएसएफ) को अंतर्राष्ट्रीय सीमा के उस पार हैंड हेल्ड थर्मल इमेज के जरिए एक ऐसा वीडियो मिला है. इस वीडियो से पता चल रहा है कि आतंकी घुसपैठ के लिए ऐसे कपड़ों का इस्तेमाल कर रहे हैं जो हैंड हेल्ड थर्मल इमेज में साफ डिटेक्ट नहीं हो रहे.

BSF सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान घुसपैठ कराने के लिए हीट रजिस्टेंस ड्रेस का इस्तेमाल करने में जुटा हुआ है. सूत्र यह बताते हैं कि पाकिस्तान ने इस तरीके की तकनीक को बाहर से न लाकर अपने देश में ही डेवलप किया है. इस तकनीक के जरिए वह अंतर्राष्ट्रीय सीमा और LOC पर ज्यादा से ज्यादा आतंकियों की घुसपैठ कराने की कोशिश कर सकता है. बॉर्डर से ऐसी तस्वीर और वीडियो आने के बाद बीएसएफ की टेक्निकल टीम जांच करने में जुटी है.

क्या पता चला बीएसएफ़ को?

हाल ही में बीएसएफ़ को इंटरनेशनल बॉर्डर पर एक HHTI (Hand Held Thermal Imager) में ऐसा वीडियो मिला है जिसमें पाकिस्तान आतंकियों को घुसपैठ कराने के लिए नए तरीके के ड्रेस का प्रयोग कर रहा है. ये वीडियो जम्मू के जब्बोवाल बीओपी का है.

बीएसएफ के अधिकारी HHTI के इस वीडियो को देखकर दंग रह गए. उनको पता चला कि एक विशेष तरीके की आकृति इसमें दिख रही है, जिसमें ये पता नहीं चल रहा है कि ये है क्या? सूत्र बताते हैं कि पाकिस्तान और उसकी खुफिया एजेंसी आईएसआई अब इन तरीकों का इस्तेमाल कर घुसपैठ कराने में जुटा है, जिससे इसमें उसके आतंकी डिटेक्ट ना किए जा सकें.

अब बीएसएफ के अधिकारियों में पाक की इस नई ड्रेस तकनीक पर माथापच्ची चल रही है. साथ ही बीएसएफ आने वाले समय में इंटरनेशनल बॉर्डर से किसी तरीके की आतंकी घुसपैठ न हो उसके लिए स्मार्ट फेंसिंग लगा रहा है. पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर जम्मू सेक्टर की दो जगहों पर स्मार्ट फेंसिंग लगाने का काम इस वक्त चल रहा है. जानकारी के मुताबिक स्मार्ट फेंसिंग में 5 लेयर सिक्योरिटी होगी, जिसमें अंडर ग्राउंड सेंसर के साथ साथ ऐसे रडार होंगे जो झाड़ियों में भी छुपे आतंकवादियों को डिटेक्ट कर सकते हैं. ये गृहमंत्रालय का एक महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट है और इसके जरिए बॉर्डर से घुसपैठ पर लगाम लगाने के लिए पूरा बंदोबस्त किया जा रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें