scorecardresearch
 

पाकिस्तान पर फिर से हो सर्जिकल स्ट्राइक: रामविलास पासवान

कश्मीर की कृष्णा घाटी में पाकिस्तान के सैनिकों द्वारा भारतीय सेना के सैनिकों पर की गई बर्बरता के बाद सरकार को जहां विपक्ष का हमला झेलना पड़ रहा है. वहीं सरकार के सहयोगी दल और सरकार के मंत्री भी पाकिस्तान के खिलाफ कड़ा रुख अपनाने की मांग कर रहे हैं. लोजपा अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री ने भी इस मामले में ईंट का जवाब पत्थर से देने और फिर से सर्जिकल स्ट्राइक की बात कही है.

रामविलास पासवान रामविलास पासवान

कश्मीर की कृष्णा घाटी में पाकिस्तान के सैनिकों द्वारा भारतीय सेना के सैनिकों पर की गई बर्बरता के बाद सरकार को जहां विपक्ष का हमला झेलना पड़ रहा है. वहीं सरकार के सहयोगी दल और सरकार के मंत्री भी पाकिस्तान के खिलाफ कड़ा रुख अपनाने की मांग कर रहे हैं. लोजपा अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री ने भी इस मामले में ईंट का जवाब पत्थर से देने और फिर से सर्जिकल स्ट्राइक की बात कही है.

फिर से हो सर्जिकल स्ट्राइक: रामविलास पासवान
केंद्र सरकार में बीजेपी के सहयोगी दलों ने भी सरकार से अपील की है कि वे ईंट का जवाब पत्थर से दें. लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने मंगलवार को कहा कि अब पानी सिर के ऊपर जा चुका है. वे फिर से सर्जिकल स्ट्राइक जैसी कार्रवाई की जरूरत जता रहे हैं. उन्होंने कहा कि ऐसा पहली बार नहीं है कि पाकिस्तान ने भारत के सैनिकों के शव का अपमान किया है. उन्होंने कहा कि देश के भीतर कुछ ऐसे हालात हैं कि शहीद के परिवार बिना सर के लाश की अंत्येष्टि करने से इंकार कर रहे हैं.

वे ऐसे में पाकिस्तान को बेहरमी से कुचल देने की बात कहते हैं. वे इस समस्या के खात्मे के लिए जरूरी कदम उठाए जाने की बात कहते हैं. गौरतलब है कि मंगलवार को कांग्रेस नेता और पूर्व रक्षा मंत्री ए.के. एंटनी ने मोदी सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए और कहा कि यूपीए के वक्त ऐसी घटना सिर्फ एक बार हुई थी. वहीं मोदी सरकार के आने के बाद पाकिस्तान अब तक तीन बार ऐसा दुस्साहस कर चुका है.

इस मसले पर न हो राजनीति: रविशंकर प्रसाद
इस पूर मामले पर जब केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद से सवाल किए जाने पर उन्होंने कहा कि इस मामले को राजनीतिक तूल न दिया जाए और न ही राजनीति की जाए. उन्होंने एंटनी की बातों का सीधे जवाब देने से इंकार करते हुए पाकिस्तान की हरकत को शर्मनाक करार दिया. उन्होंने आगे कहा कि युद्ध की परिस्थितियों में भी कोई देश ऐसा नहीं करता. ऐसे में वे भारतीय सेना के हवाले से कहते हैं कि सैनिकों की शहादत बेकार नहीं जाएगी और पाकिस्तान को माकूल जवाब दिया जाएगा. वे सेना के ऊपर विश्वास बनाए रखने की बात कहते हैं. वे आगे कहते हैं कि सरकार पूरी मजबूती से सेना के साथ खड़ी है. ऐसी तमाम परिस्थितियों में भारतीय सेना ने पाकिस्तान को उसकी जगह दिखाई है और मुंहतोड़ जवाब दिया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें