scorecardresearch
 

PAK की नई साजिश, अक्टूबर में LoC पर 4000 आतंकियों की करा सकता है घुसपैठ

पाकिस्तान इस सारे मंसूबे को कुछ इस तरह अंजाम देने की फिराक में है, जिससे कि भारतीय सुरक्षा बल जवाबी कार्रवाई करें तो पाकिस्तान उसे नागरिकों के मानवाधिकारों के उल्लंघन की तरह दुनिया के सामने पेश कर सके.

 घुसपैठ की फिराक में पाकिस्तान (प्रतीकात्मक तस्वीर) घुसपैठ की फिराक में पाकिस्तान (प्रतीकात्मक तस्वीर)

  • इंटेलिजेंस एजेंसियों ने एलओसी के पास सुरक्षाबलों को किया अलर्ट
  • एलओसी पार 31 जगहों पर पाक सेना और आतंकियों को किया स्पॉट

इंटेलिजेंस एजेंसियों को इनपुट्स मिले हैं कि संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) की बैठक खत्म होने के बाद पाकिस्तान नियंत्रण रेखा (LoC) के पास कुछ बड़ा करने की तैयारी में है. इसके लिए नागरिकों को शील्ड बनाया जा सकता है. इंटेलिजेंस एजेंसियों ने एलओसी के पास सुरक्षाबलों को अलर्ट कर दिया है.

सूत्रों ने इनपुट्स के हवाले से बताया कि पाकिस्तानी सेना और ‘जमात-उल-अल-हदीस’ ने 3 हजार से 4 हजार युवाओं को अक्टूबर के पहले हफ्ते में एलओसी के उल्लंघन के लिए तैयार किया है. इन्हें एक महीने तक ट्रेनिंग दी गई है.  ‘जमात-उल-अल-हदीस’ 26/11 मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद का नया फ्रंटल संगठन है.

सूत्रों ने बताया कि ट्रेंड किए जा रहे इन आतंकियों में जेकेएलएफ (आज़ादी) के कुछ युवा सदस्य भी शामिल हैं, जो पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) में सक्रिय हैं. सूत्रों ने बताया कि इस ट्रेनिंग का मकसद युवाओं का माइंडवॉश कर उन्हें एलओसी से सटे इलाकों में भेजना है, जिससे वह अक्टूबर के पहले हफ्ते में घुसपैठ कर सकें.

पाकिस्तान इस सारे मंसूबे को कुछ इस तरह अंजाम देने की फिराक में है, जिससे कि भारतीय सुरक्षा बल जवाबी कार्रवाई करें तो पाकिस्तान उसे नागरिकों के मानवाधिकारों के उल्लंघन की तरह दुनिया के सामने पेश कर सके.

इसके अलावा पाकिस्तानी सेना इस भीड़ के साथ ही अपनी BAT (बॉर्डर एक्शन टीम) के सदस्यों को भी भेज रही है. अगर ये सब एलओसी के उल्लंघन में कामयाब रहे तो बड़ी गड़बड़ी को अंजाम दिया जा सके.

एलओसी के पार कम से कम 31 जगहों पर पाक सेना और आतंकियों को स्पॉट किया गया है जहां से घुसपैठ की कोशिश हो सकती है. भारतीय सुरक्षा एजेंसियां पाकिस्तान के नापाक मंसूबों को नाकाम करने के लिए दिन रात कड़ी चौकसी बरत रही हैं. सूत्रों ने 31 स्पॉट के नाम भी बताए. इस सूची में पहले एलओसी के उस पार पाकिस्तानी पोस्ट और फिर उससे लगते भारतीय सेक्टर का नाम दिया गया है.    

1.पी पी नाला -  पुंछ

2. सोनार -  मच्छल

3. हाथलंगा-  रामपुर

4. आठमुकाम – केरन

5. दुधिनाल - केरन

6. गिद्दर 1-  उरी

7. गुंडगराह - उरी

8. शार्दी-  मच्छल

9. लंजोट -  बीजी

10. मोहरा -  बीजी

11. कासिम-  मच्छल

12. कोपरा - सुजियान

13. पीपी बर्बाद 1 - बीजी

14. पोलास – पुंछ

15. तेजियान - बीजी

 16. मोची मोहरा- पुंछ

17. मादरपुर -  केजी

18. बट्टल मजूरा - केजी

19. गोई - केजी

20. ठंडीकस्सी- बीजी

21. जनवई - मच्छल

22. हरमारगी - मच्छल

23. छम्म - उरी

24. कठार -  केजी(कृष्णा घाटी)

25. बोखरा- उरी

26. पछीबान – उरी

27. रोज़ा - केजी

28. पी पी ट्विन- केजी

29. पीएल मजार- बीजी

30. नारकोट - नौगाम

31. ग्रीन बम्प- पुंछ

सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तानी सेना आतंकियों को छुपाने के लिए एलओसी के पास अपने डिफेंस बंकरों का इस्तेमाल कर रही है.

सूत्रों ने बताया कि जैश- ए- मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा के आतंकियों के साथ BAT आने वाले दिनों में एलओसी से सटे इलाकों में बड़ी गड़बड़ी की कोशिश कर सकते हैं. इन्हें घुसपैठ कराने के लिए पाकिस्तानी सेना की ओर से भारी गोलीबारी का कवर दिया जा सकता है. इसके लिए पीर पंजाल रेंज के उत्तर और दक्षिण, दोनों तरफ से लॉन्च पैड्स का इस्तेमाल किया जा सकता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें