scorecardresearch
 

Aaj Tak के 'ऑपरेशन धर्मांतरण' का असर, राजनाथ ने कहा- PFI पर करेंगे कड़ी कार्रवाई, नहीं बख्शे जाएंगे दोषी

आजतक से विशेष बातचीत में केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा कि आजतक के स्टिंग ऑपरेशन में धर्मांतरण के खुलासे के बाद कार्रवाई की गई है.

आजतक के ऑपरेशन धर्मांतरण का असर आजतक के ऑपरेशन धर्मांतरण का असर

आजतक के ऑपरेशन धर्मांतरण के बाद केंद्र सरकार हरकत में आ गई है. मामले में चुप्पी तोड़ते हुए केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. इस मामले में एजेंसियां जमीन पर काम कर रही हैं. आजतक से विशेष बातचीत में केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा कि आजतक के स्टिंग ऑपरेशन में धर्मांतरण के खुलासे के बाद कार्रवाई की गई है.

उन्होंने कहा कि मामले के दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा. केंद्र सरकार की ओर से पहली बार इस मामले में इतने उच्च स्तर से प्रतिक्रिया आई है. माना जा रहा है कि अब सरकार जल्द ही PFI और इसकी कट्टरपंथी चैरिटी पर जल्द बैन लगा सकती है. इससे पहले आजतक के ऑपरेशन धर्मांतरण को लेकर केंद्रीय गृह राज्यमंत्री हंसराज अहीर ने कहा कि कोई भी व्यक्ति धर्मांतरण बलपूर्वक नहीं करा सकता.

अहीर ने यह भी कहा कि आजतक ने जो स्टिंग ऑपरेशन किया है, उसमें यह साफ जाहिर हो रहा है कि पीएफआई की घातक हरकतें चल रही है. देश के बाहरी देशों से मदद लेकर इस काम को अंजाम दिया जा रहा है. इसमें आतंकी संगठन भी शामिल हैं, जो धर्मांतरण के इस काम में लगे हुए हैं.

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अहीर के पास आई थी शिकायत

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अहीर ने कहा कि जो बात आप लोग सामने लेकर आए हैं, मैं भी जब मई जून में केरल गया था, तो मेरे पास भी ऐसी शिकायत आई थी. इसमें कहा गया था कि एक महीने में एक हजार से ज्यादा लोगों के धर्मांतरण कराए गए. हंसराज अहीर ने कहा कि वहां की पुलिस से भी हमने रिपोर्ट मांगी है कि कैसे ये धर्मांतरण का नेक्सस चल रहा है? उसकी जानकारी दें. हंसराज अहीर ने बताया कि डीजीपी ने भी कहा कि 3 महीने में 3000 लोगों के धर्मांतरण की जानकारी उनके पास हैं.

NIA कर रही है मामले की जांच

यह पूछे जाने पर कि जो लोग या संस्था इसमें शामिल हैं, उनके खिलाफ गृह मंत्रालय एक्शन लेगा या नहीं? केंद्रीय गृह राज्यमंत्री हंसराज अहीर ने कहा कि आजतक ने जो खुलासा किया है, उससे साफ जाहिर हो रहा है कि पैसा किस तरीके से विदेशों से टेरर ऑर्गनाइजेशन भी भेज रहे हैं, जिसके जरिए केरल जैसे राज्य में लोग धर्मांतरण कराने में जुटे हुए हैं. इससे स्पष्ट है कि कैसे धर्मांतरण हो रहा है? गृह राज्य मंत्री ने कहा कि आजतक ने जो स्टिंग किया है, जिसमें PFI की मंशा सामने आ रही है. जबरन धर्मांतरण कराना अपराध है. केन्द्र सरकार इसमें रोक लगाने के लिए काम कर रही है. इस मसले को लेकर NIA जांच कर रही है.

हंसराज अहीर ने कहा- जरूर होगी कार्रवाई

केंद्रीय गृह राज्यमंत्री हंसराज अहीर ने कहा कि अब इस बात का खुलासा आजतक से सामने आ रहा है. हम जरूर एक्शन लेंगे. ये काम गलत है. एनआईए के पास जो भी रिपोर्ट आना है वो आ गई है. ऐसे में (PFI) पर बैन लगाने की ज़रूरत पड़ेगी तो ज़रूर बैन लगेगा. इस पर निगरानी भी रखी जाएगी.

केंद्रीय गृह राज्यमंत्री हंसराज अहीर ने बताया कि प्रेस के माध्यम से कोई भी चीज़ सामने लाई जाती है तो उसको हम देखते हैं. MHA पूरे ऑपरेशन को स्टडी करेगा और उसको आधार बनाकर कार्रवाई करेंगे. अहीर ने बताया कि हो सकता है ऑपरेशन का इस्तेमाल सुप्रीम कोर्ट में भी हो जाये.

धर्म परिवर्तन के आरोपों को खारिज करता रहा है PFI

सार्वजनिक तौर पर केरल का पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) खुद को एकता और समानता का अलमबरदार बताता है. साथ ही धर्म परिवर्तन, हवाला फंडिंग, जानलेवा हमले और आतंकवाद से जुड़ाव के आरोपों को लगातार खारिज करता रहा है. हालांकि आजतक की स्पेशल इंवेस्टीगेटिव टीम ने अपनी जांच में खुद को धर्मार्थ बताने वाले इस संगठन के असली चेहरे को बेनकाब कर दिया है.

आजतक के अंडर कवर रिपोर्टर्स ने ऐसे किया था खुलासा

आज़तक के अंडर कवर रिपोर्टर्स ने छुपे कैमरे पर PFI के शीर्ष पदाधिकारियों के मुंह से ऐसे खुलासे कैद किए हैं जो सकते में डाल देने वाले हैं. चाहे वो बड़े स्तर पर धर्म परिवर्तन कराना हो, अवैध फंडिंग हो, या फिर भारत को धर्मप्रधान इस्लामिक देश बनाने का अंतिम लक्ष्य. सबके बारे में इन्हें खुद ही सब कबूल करते देखा-सुना जा सकता है. PFI पहले से ही राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) की जांच के रडार पर है. PFI पर हिन्दू महिलाओं का ब्रेनवॉश कर मुस्लिम पुरुषों से शादी कराने के आरोप हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें