scorecardresearch
 

प्रीमियम स्पेशल ट्रेनों में नहीं मिलेगा किसी तरह का रिफंड

भारतीय रेलवे के अधिकारियों ने स्पष्ट किया है कि प्रीमियम स्पेशल ट्रेनों की टिकटों को लौटाने पर किसी तरह का रिफंड नहीं मिलेगा. एक अंग्रेजी अखबार ने यह खबर दी है.

X
भारतीय रेल भारतीय रेल

भारतीय रेलवे के अधिकारियों ने स्पष्ट किया है कि प्रीमियम स्पेशल ट्रेनों की टिकटों को लौटाने पर किसी तरह का रिफंड नहीं मिलेगा. एक अंग्रेजी अखबार ने यह खबर दी है.

रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने पत्र को बताया कि प्रीमियम ट्रेनें उन लोगों के लिए चलाई जाती हैं जिनके पास समय कम होता है, यानी जिन्हें अचानक ही यात्रा करनी होती है. ऐसे लोगों को आरक्षण मुहैया कराना ही इसका उद्देश्य है. इसलिए प्रीमियम ट्रेनों में रिजर्वेशन अधिकतम 15 दिन एडवांस में होते हैं जबकि आम रिजर्वेशन 60 दिन पहले होता है.

रेलवे ने कहा है कि प्रीमियम ट्रेनें मौसमी होती हैं और हमेशा नहीं चलतीं. वे पर्व-त्योहार में ज्यादा चलती हैं ताकि यात्रियों को भीड़-भाड़ से छुटकारा मिल जाए. इन स्पेशल ट्रेनों में टू टायर एसी और थ्री टायर एसी के डिब्बे होते हैं और उनमें कैटरिंग की भी सुविधा होती है. इसके अलावा ऐसी भी प्रीमियर ट्रेनें चलाई गई हैं जिनमें स्लीपर क्लास भी हैं. इसके अलावा प्रीमियर राजधानी ट्रेनें भी चलाई जा रही हैं इनमें आप टिकट बुकिंग के साथ ही राजधानी की तर्ज पर कैटरिंग की सुविधा का लुत्फ भी लेते हैं.

इन ट्रेनों की रफ्तार 60 किलोमीटर प्रति घंटा से ज्यादा होती है और इनमें बहुत कम स्टॉप होते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें