scorecardresearch
 

गृह मंत्री के दौरे से ठीक पहले नक्सलियों ने दी हमले की धमकी

गृह मंत्री के दौरे से ठीक पहले नक्सलियों ने एक बार फिर हमले की धमकी दी है. नक्सलियों ने सुकमा इलाके में पोस्टर चिपकाकर खुलेआम हमले की धमकी दी. इन पोस्टरों में नक्सलियों ने उन नेताओं के नाम लिखे हैं, जिन्हें निशाना बनाने का इरादा है. साथ ही , नक्सलियों ने सुकमा के कलेक्टर को चिट्ठी भी भेजी है, जिसमें और हमलों की चेतावनी दी गई है.

गृह मंत्री के दौरे से ठीक पहले नक्सलियों ने एक बार फिर हमले की धमकी दी है. नक्सलियों ने सुकमा इलाके में पोस्टर चिपकाकर खुलेआम हमले की धमकी दी. इन पोस्टरों में नक्सलियों ने उन नेताओं के नाम लिखे हैं, जिन्हें निशाना बनाने का इरादा है. साथ ही, नक्सलियों ने सुकमा के कलेक्टर को चिट्ठी भी भेजी है, जिसमें और हमलों की चेतावनी दी गई है.

पोस्टरों में कहा गया है कि केंद्र सरकार को दरभा घाटी में सलवा जुडूम का जवाब मिल गया होगा. सलवा जुडूम के लोगों और पुलिस के मददगारों को हम ऐसा ही दंड देंगे. तुम लोग अपनी पूरी फोर्स लगाकर भी उन्हें नहीं बचा पाओगे. पोस्टर के जरिए नक्सलियों ने कई मांगें भी रखी हैं. मसलन, बस्तर से सीआरपीएफ को हटाया जाए. ऑपरेशन ग्रीन हंट को बंद किया जाए. विकास यात्रा और परविर्तन यात्रा को बंद किया जाए. जेलों में बंद नक्सलियों को रिहा किया जाए.

उधर नक्सलियों ने अब अपने असर वाले राज्यों के जिला मुख्यालय और ब्लॉक कार्यालय पर कब्जे की साजिश रची है. खुफिया एजेंसियों को मिली जानकारी के मुताबिक, छत्तीसगढ़, झारखंड और उड़ीसा के सरहद पर सारंडा के जंगल में नक्सलियों की बैठक में बड़ी साजिश का खाका तैयार किया गया है.

गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे शुक्रवार को छत्तीसगढ़ का दौरा

केंद्रीय गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे आज छत्तीसगढ़ का दौरा करेंगे. वो राज्य में पिछले दिनों हुए नक्सली हमले के बाद सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेंगे. शिंदे, कांग्रेस नेताओं पर नक्सली हमले के 6 दिन बाद दौरे पर जा रहे हैं. हमले के बाद देश में उनकी ग़ैरमौजूदगी पर सवाल उठे थे. लेकिन शिंदे ने कहा कि उनका अमेरिका दौरा पहले से तय था.

गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे ने बताया है कि नक्सली अब शहरी इलाकों को भी निशाना बना सकते हैं. शिंदे ने कहा कि सरकार को इस सिलसिले में जानकारी मिली है. उन्होंने बताया कि कहा कि नक्सलियों की हिट लिस्ट में सोनिया गांधी, पी चिदंबरम समेत 25 हस्तियां हैं. साथ ही बीजेपी के 3 बड़े नेता भी नक्सलियों के निशाने पर हैं.

गौरतलब है कि शिंदे ने राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग को खारिज कर दिया. शिंदे ने दिल्ली में प्रेस कांफ्रेंस कर अमेरिका में रुकने पर सफाई दी. सुशील कुमार शिंदे ने कहा कि अमेरिका में वो आंख का इलाज कराने गए थे और डॉक्टर के इंतजार में वहां बुधवार तक रुकना पड़ा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें