scorecardresearch
 

प्रवासी भारतीयों के बीच मोदी Vs राहुल, देश बदल रहा है या खतरे में? पढ़ें तर्क

इस दौरान पीएम मोदी ने प्रवासी भारतीय सांसदों को संबोधित किया. मोदी ने न्यू इंडिया की बात की और उन्हें भारत का सच्चा ब्रांड एंबेसेडर बताया. इससे पहले सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी बहरीन में प्रवासी भारतीयों को संबोधित किया था.

राहुल बनाम मोदी राहुल बनाम मोदी

पिछले दो दिनों में देश के दो बड़े नेताओं ने प्रवासी भारतीयों से सीधा संवाद किया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को नई दिल्ली में हो रहे प्रवासी भारतीय सम्मेलन का उद्घाटन किया. इस दौरान पीएम मोदी ने प्रवासी भारतीय सांसदों को संबोधित किया. मोदी ने न्यू इंडिया की बात की और उन्हें भारत का सच्चा ब्रांड एंबेसेडर बताया. इससे पहले सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी बहरीन में प्रवासी भारतीयों को संबोधित किया था. दोनों नेताओं ने अपने-अपने तरीके से प्रवासी भारतीयों को कुछ इस तरह साधने की कोशिश की, पढ़ें दोनों की मुख्य बातें...   

मंगलवार को प्रवासी सांसदों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि 21वीं सदी एशिया की है, हम इसे भारत की सदी बनाना चाहते हैं. न्यू इंडिया में आप लोगों का भी पूरा महत्व है. पीएम मोदी की बड़ी बातें...  

1. प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत की आवश्यकताओं, शक्तियों और विशेषताओं को विश्व तक पहुंचाने की जितनी क्षमता आपमें हैं, और किसी में नहीं है. दुनिया के अस्थिरता से भरे वातावरण में भारतीय सभ्यता और संस्कृति के मूल्य, पूरे विश्व का मार्गदर्शन कर सकते हैं.

2. पीएम बोले कि भारत की विकास यात्रा में प्रवासी भारतीयों का भी पूरा महत्व है, आप निवेश के जरिए भी देश की सेवा कर सकते हैं.

3. मोदी ने कहा कि अहिंसा के मार्ग पर चलते हुए दुनिया की सभी समस्याओं को सुलझाया जा सकता है. न्यू इंडिया के सपने को पूरा करने के लिए आप के साथ आगे बढ़ना चाहते हैं. पीएम ने कहा कि 21वीं सदी भारत की है, लेकिन हमारी नज़र किसी की जमीन पर नहीं है.

4. पिछले सालों में भारत में विदेशी निवेश में काफी इजाफा हुआ है. पिछले तीन-चार सालों में दुनिया का फोकस दुनिया पर बढ़ा है. मोदी बोले कि आप लोग लंबे समय से अलग-अलग देशों में रह रहे हैं. आपने अनुभव किया होगा कि पिछले तीन-चार वर्षों में भारत के प्रति नजरिया बदल गया है. हम पर फोकस बढ़ रहा है, विश्व का हमारे प्रति नजरिया बदल रहा है, तो इसका मुख्य कारण यही है कि भारत स्वयं बदल रहा है, ट्रांसफॉर्म हो रहा है.

5. उन्होंने कहा कि जहां वैश्विक समाज अलग-अलग स्तरों और विचारधाराओं में बंट रहा है, वहां आप भारत की 'सबका साथ सबका विकास' का उदाहरण दे सकते हैं. जहां विश्व में Extremism और Radicalization के बारे में चिंता बढ़ रही है,वहां आप दुनिया को भारतीय संस्कृति के “सर्व पंथ समभाव” का संदेश दुहरा सकते हैं.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बहरीन में प्रवासी भारतीयों को संबोधित किया था. उन्होंने इस दौरान कहा था कि देश इस समय संकट में है, आप देश की मदद कर सकते हैं. राहुल ने इस दौरान रोजगार, बैंक क्रेडिट ग्रोथ आदि मसलों की भी बात की थी. राहुल की 5 बड़ी बातें...

1. मैं आपको यह बताने आया हूं कि भारत इस समय संकट में है और आप देश की मदद कर सकते हैं. मैं ऐसे भारत की कल्पना भी नहीं कर सकता, जहां देश का हर नागरिक खुद को देश का हिस्सा न समझे.

2. राहुल ने कहा था कि भारत में रोजगार सृजन पिछले आठ सालों के निम्नतम स्तर पर है. देश में बैंक क्रेडिट ग्रोथ पिछले 63 सालों के निम्नतम स्तर पर है.

3. बहरीन में भी राहुल ने नोटबंदी पर निशाना साधा था. उन्होंने कहा था कि नोटबंदी से देश की अर्थव्यवस्था को बड़ा झटका लगा है.

4. हाल ही की घटनाओं का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा था कि सड़कों पर लोग गुस्से में दिखाई दे रहे हैं. विभाजनकारी ताकतें तय कर रही हैं कि लोगों को क्या खाना चाहिए और क्या नहीं. चारों ओर नफरत फैलाई जा रही है. आपकी योग्यता, सहिष्णुता, देशभक्ति की आज देश को जरूरत है. आप जिन भी देशों में रहे आपने उन्हें बनाने में रोल निभाया है.

5. दलितों को पीटा जा रहा है, पत्रकारों को धमकाया जा रहा है और जजों की रहस्यमयी हालतों में मौत हो रही है. कोई किसी को धमका रहा है तो सरकार इस पर चुप्पी साध लेती है, सरकार को चुप नहीं रहना चाहिए. देश में फिर से भाईचारा और अहिंसा फैलाने के लिए हमें आपकी मदद की जरूरत है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें