scorecardresearch
 

अस्सी घाट पर सफाई कर पीएम मोदी ने CM अखिलेश समेत 9 लोगों को किया नॉमिनेट

प्रधानमंत्री पद का कार्यभार संभालने के बाद पहली बार अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के दौरे पर गए नरेंद्र मोदी आज सुबह अस्सी घाट पहुंचे. मोदी ने गंगा पूजन के बाद फावड़े से मिट्टी हटाकर सफाई अभियान की शुरुआत की.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री पद का कार्यभार संभालने के बाद पहली बार अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के दौरे पर गए नरेंद्र मोदी आज सुबह अस्सी घाट पहुंचे. मोदी ने गंगा पूजन के बाद फावड़े से मिट्टी हटाकर सफाई अभियान की शुरुआत की.

मोदी ने गंगा पूजन किया और उसके बाद गंगा आरती भी की. प्रधानमंत्री ने पंडितों की मौजूदगी में पूरे विधि विधान से गंगा की पूजा की. इसके बाद फावड़ा उठाकर उन्होंने मिट्टी हटाकर अपने स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत वाराणसी में भी की. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गंगा नदी के अस्सी घाट की सफाई के बाद कहा, 'आज यह घाट की सफाई का काम शुरू किया है. मुझे यहां के सामाजिक संगठनों ने विश्वास दिलाया है कि एक महीने में पूरा घाट साफ कर दिया जाएगा. कई वर्षों में अपने आप में सफाई के माध्यम से यह अच्छी सौगात होगी.'

प्रधानमंत्री मोदी ने दिल्ली के बाद यहां भी सफाई अभियान के लिए नौ लोगों को नॉमिनेट करते हुए कहा, 'जब मैंने दिल्ली में सफाई की थी तब भी नौ लोगों को नॉमिनेट किया था और आज भी कर रहा हूं. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, रामभद्राचार्य (चित्रकूट हैंडिकैप्ड यूनिवर्सिटी के फाउंडर), मनोज तिवारी (भोजपुरी गायक और बीजेपी सांसद), मनोज शर्मा (कृष्ण की आत्मकथा से प्रसिद्ध हुए), मोहम्मद कैफ (क्रिकेटर), पद्मश्री से सम्मानित प्रोफेसर देवीप्रसाद द्विवेदी, राजू श्रीवास्तव (एक्टर और कॉमेडियन), सुरेश रैना (क्रिकेटर) और कैलाश खेर (सिंगर)' सुरेश रैना ने पीएम द्वारा नॉमिनेट किए जाने के बाद ट्वीट किया-


इसके बाद पीएम मोदी आनंदमयी अस्पताल गए.

 

इसके बाद प्रधानमंत्री 9 बजकर 55 मिनट पर डीरेका गेस्टहाउस से बाबतपुर एयरपोर्ट के लिए रवाना हुए और 10 बजकर 20 मिनट पर दिल्ली के लिए उड़ान भरी.

वाराणसी दौरे के पहले दिन शुक्रवार को पीएम मोदी बड़ा लालपुर में व्यापार केंद्र का शिलान्यास किया और उसके बाद जयापुरा गांव को सांसद के तौर गोद लिया. मोदी ने इस दौरान कहा कि सांसद गांव को नहीं बल्कि गांव सांसद को गोद लेता है. इतना ही नहीं उन्होंने लालपुर में यह कहकर वाराणसीवासियों का दिल जीत लिया कि मैं आपका सेवक और सुख दुख का साथी बनकर यहां आया हूं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें