scorecardresearch
 

नरेंद्र मोदी के प्रमोशन पर जेडीयू नाखुश

पार्टी द्वारा चुनाव प्रचार समिति का चेयरमैन बनाए जाने के बाद गुजरात के मुख्यमंत्री और बीजेपी के फायरब्रांड नेता नरेंद्र मोदी ने अध्यक्ष राजनाथ सिंह समेत पार्टी के अन्य सभी नेताओं और कार्यकर्ताओं का आभार व्यक्त किया. उन्होंने कहा, 'मुझे पार्टी ने बहुत बड़ा सम्मान दिया है, नई जिम्मेदारी पूरी करने में कोई कमी नहीं छोड़ूंगा.'

नरेंद्र मोदी नरेंद्र मोदी

बीजेपी ने 2014 के लोकसभा चुनावों की कमान गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को सौंप दी है. गोवा में बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के दूसरे और आखिरी दिन पार्टी अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने मोदी को पार्टी की चुनाव प्रचार समिति का अध्यक्ष बनाने का ऐलान किया. नरेंद्र मोदी को बीजेपी चुनाव प्रचार समिति का अध्यक्ष बनाने का ऐलान होते ही देश भर में बीजेपी कार्यकर्ताओं में जश्न की लहर दौड़ गई. दिल्ली, चंडीगढ़, भोपाल, वाराणसी, लखनऊ, जम्मू तमाम जगहों पर बीजेपी कार्यकर्ताओं ने जश्न मनाया.

जहां एक ओर बीजेपी की सहयोगी पार्टी शिवसेना और अकाली दल ने नरेंद्र मोदी को चुनाव प्रचार की कमान मिलने पर बधाई दी है वहीं उनके प्रमोशन से जेडीयू नाखुश है. शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने इसे गेमचेंजर बताते हुए कहा कि ये ऐलान यूपीए के भ्रष्ट शासन के खात्मे की शुरुआत करेगा. वहीं इन दिनों विदेश यात्रा पर गए हुए शिव सेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने फोन पर मोदी को बधाई दी है.

जबकि नरेंद्र मोदी की अगुवाई में 2014 का चुनाव लड़ने के बीजेपी के फैसले से जेडीयू नाखुश है. आजतक से खास बातचीत में जेडीयू सांसद अली अनवर ने कहा कि अब बीजेपी और जेडीयू के बीच रिश्ते सामान्य नहीं रह सकेंगे. जेडीयू को गठबंधन पर दोबारा विचार करना होगा. उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी के साथ जेडीयू नेता ना तो मंच साझा कर सकते ना ही साथ चुनाव प्रचार कर सकते.

लालू ने पूछा, 'अब क्या करेगी जेडीयू'
नरेंद्र मोदी को लोकसभा चुनाव प्रचार समिति का अध्यक्ष बनने के बाद आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने जेडीयू से चुटकी ली है. लालू ने कहा कि अब जेडीयू को बताना चाहिए वो क्या करेगी. लालू ने कहा कि मोदी और आडवाणी में कोई अंतर नहीं है. वहीं कांग्रेस ने नरेंद्र मोदी को बीजेपी के चुनाव प्रचार की कमान सौंपे जाने को कोई तवज्जो नहीं दिया. कांग्रेस प्रवक्ता शकील अहमद ने कहा कि कर्नाटक चुनाव में लोग मोदी की काबिलियत देख चुके हैं. कुछ भाषणों के बाद मोदी की कलई खुल जाएगी. वो तिल का ताड़ बनाने में माहिर हैं.

उधर पार्टी द्वारा चुनाव प्रचार समिति का चेयरमैन बनाए जाने के बाद गुजरात के मुख्यमंत्री और बीजेपी के फायरब्रांड नेता नरेंद्र मोदी ने अध्यक्ष राजनाथ सिंह समेत पार्टी के अन्य सभी नेताओं और कार्यकर्ताओं का आभार व्यक्त किया. उन्होंने कहा, 'मुझे पार्टी ने बहुत बड़ा सम्मान दिया है, नई जिम्मेदारी पूरी करने में कोई कमी नहीं छोड़ूंगा.'

गोवा में बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी परिषद की बैठक के दूसरे और आखिर दिन जोशीले माहौल के बीच नवनियुक्त बीजेपी चुनाव प्रचार समिति अध्यक्ष ने कहा, 'मैंने बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं की उंगली पकड़कर चलना सीखा है. मेरी क्षमता पर कार्यकर्ताओं का अधिकार है. राजनीति को मैंने सेवा का माध्यम माना है और सत्ता मेरे लिए भोग का साधन नहीं है. मेरे जीवन में गोवा ने विशेष स्थान पा लिया है. गोवा में जब भी आशीर्वाद मिला है नैय्या पार लगी है.'

केंद्र सरकार पर साधा निशाना
चुनाव प्रचार समिति का चेयरमैन बनने के बाद मोदी ने अपने पहले संबोधन में केंद्र की यूपीए सरकार पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने यूपीए सरकार के 'भारत निर्माण' वाले विज्ञापन पर भी चुटकी ली. उन्होंने कहा, 'यूपीए का विज्ञापन कहता है कि भारत निर्माण पर हक है मेरा. पर सच तो यह है कि भारत निर्माण पर हक नहीं, शक है मेरा.' उन्होंने कहा, केंद्र की सरकार पर भ्रष्टाचार के आरोपों का असर नहीं पड़ता है. बीजेपी के किसी मुख्यमंत्री पर भ्रष्टाचार का आरोप नहीं है. ऐसे में केंद्र सरकार से लोगों का भरोसा उठ गया है. अब कांग्रेस हर किसी के पीछे सीबीआई छोड़ रही है. विपक्ष का कोई नेता बाकी नहीं है, जिसके पीछे सीबीआई ना छोड़ी हो.

नक्सलवाद के मुद्दे पर कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए मोदी ने कहा, सरकार की नीतियों के कारण युवा बंदूक उठाने के लिए मजबूर हो गए हैं. कांग्रेस को देश के नौजवानों की चिंता नहीं है. पशुपति से तिरुपति तक रेड कॉरिडर बन रहा है.' उन्होंने कहा, 'भारत को असहाय नहीं छोड़ा जा सकता. संस्थाओं को खत्म करने का काम हो रहा है. सरकार ने राष्ट्रीय सलाहकार परिषद (एनएसी) बनाकर योजना आयोग को कमजोर किया है. कांग्रेस में परिवर्तन स्वीकार करने की मानसिकता नहीं है.'

मोदी ने गरजते हुए कहा, 'प्रधानमंत्री वैसे तो स्वस्थ थे, हिलते डुलते नहीं थे, लेकिन मेरी बात सुनकर चेतना आ गई. मैंने कहा प्रधानमंत्री जी खुद आपके प्लानिंग कमीशन में एक कमेटी के चेयरमैन माओवादियों से जु़ड़े हुए हैं.'

मोदी ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, 'हम अखबार में दिखें या ना दिखें, टीवी पर चमकें ना चमकें, कोशिश करें लोगों के दिलों तक पहुंचें.'

आडवाणी पर साधा परोक्ष निशाना
नरेंद्र मोदी आडवाणी समेत अन्य नेताओं पर उस वक्त परोक्ष रूप से निशाना साधते हुए दिखाई दिये जब उन्होंने पार्टी अध्यक्ष राजनाथ सिंह की तारीफ करते हुए कहा कि उनकी दरियादिली को बाहर बैठे लोग नहीं समझेंगे.

बीजेपी की चुनाव प्रचार समिति का अध्यक्ष बनाये जाने के बाद मोदी ने कहा, ‘मैं पार्टी अध्यक्ष राजनाथ सिंह के प्रति बहुत कृतज्ञ हूं कि उन्होंने न केवल मुझे नई जिम्मेदारी सौंपी है बल्कि कार्यकर्ताओं और देश की जनता के सामने बहुत सम्मान भी दिया है.’ मोदी ने कहा, ‘राजनाथ जी बोलने के लिए खड़े हुए और मुझे बैठने को कहा. बाहर जो लोग बैठे हैं उनके लिए इसके महत्व को समझना कठिन है. कोई व्यक्ति केवल पद होने पर ऐसा नहीं करता बल्कि उसके लिए बड़ा दिल होना भी जरूरी है. इसे दरियादिली कहते हैं, जो पार्टी अध्यक्ष ने दिखाई.’ मोदी ने इससे ज्यादा कुछ नहीं कहा लेकिन माना जा रहा है कि ऐसी टिप्पणी करके उन्होंने आडवाणी और कुछ अन्य नेताओं की ओर इशारा किया जो राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में शामिल नहीं हुए.

राजनाथ सिंह के भाषण के मुख्य अंश
- देश में जिंदगी की कीमत घट रही है, महंगाई बढ़ रही है
- बीजेपी जो कहेगी वो करके दिखाएगी
- पीएम को तुरंत इस्तीफा देना चाहिए
- प्रधानमंत्री पर सीधे भ्रष्टाचार के आरोप लग रहे हैं
- लोकतंत्र बिना लोक-लाज के नहीं चलता
- चीन चारों तरफ से देश को घेर रहा है
- दुनिया के छोटे देश भी हमारी अनसुनी कर रहे
- देश संकट के दौर से गुजर रहा है
- मोदी को कमान देने से कार्यकर्ता उत्साहित होंगे
- मोदी को कमान दल के लिए नहीं देश के लिए
- लोकतंत्र में जो लोकप्रिय होता है, वही नेता होता है

अरुण जेटली के भाषण के मुख्य अंश
- नरेंद्र मोदी को जिम्मेदारी दिए जाने से खुशी
- हमारा दल एक परिवार की पार्टी नहीं
- राजनाथ ने राजनीति को नई दिशा दी
- कार्यकर्ताओं की राय से हमारी पार्टी चलती है
- बीजेपी की सभी राज्य सरकारें कामयाब
- यूपीए इतिहास की सबसे भ्रष्ट सरकार है
- नक्सल पर सरकार सख्त नहीं
- पीएम का पद कभी बेचारा नहीं था
- भ्रष्टाचार पर पर्दा डालती है कांग्रेस
- भ्रष्टाचार अपने चरम पर है
- महंगाई में जीना मुहाल हो गया है
- उत्साह नहीं, उदासीन है केंद्र सरकार
- कांग्रेस ने देश को नेतृत्वहीन बना दिया
- कांग्रेस राज में देश बेचारा हुआ

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें