scorecardresearch
 

मुलायम मुस्लिमों को बेवकूफ समझते हैं: राहुल

कांग्रेस महासचिव और युवराज राहुल गांधी ने यूपी के वर्तमान और पूर्व मुख्यमंत्री मायावती और मुलायम सिंह यादव की जम कर खिंचाई की. राहुल ने समाजवादी पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह यादव के ‘मुस्लिम प्रेम’ पर सवाल खड़े किये.

राहुल गांधी राहुल गांधी

कांग्रेस महासचिव और युवराज राहुल गांधी ने यूपी के वर्तमान और पूर्व मुख्यमंत्री मायावती और मुलायम सिंह यादव की जम कर खिंचाई की. राहुल ने समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख मुलायम सिंह यादव के ‘मुस्लिम प्रेम’ पर सवाल खड़े किये और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती पर ‘यूपी शाइनिंग’ के मुगालते में जीने का आरोप लगाया.

देखें यूपी चुनाव पर विस्तृत कवरेज

राहुल ने सपा और बसपा द्वारा अपने-अपने चुनाव घोषणापत्र में किये गये वादों को झूठ बताते हुए कहा कि इस पार्टी के नेता चुनावी बेला में वह सब कुछ कहने को तैयार हैं जो जनता सुनना चाहती है.

यूपी में कांग्रेस महासचिव ने अम्बेडकरनगर में आयोजित चुनावी सभा में कहा, ‘मुलायम सिंह कहते हैं कि कांग्रेस ने मुसलमानों को कम आरक्षण दिया. वह खुद तीन बार राज्य के मुख्यमंत्री रहे लेकिन उन्होंने अपने स्तर पर इस दिशा में कुछ नहीं किया और जब रशीद मसूद ने आरक्षण की बात कही तो उन्हें पार्टी से निकाल दिया.’ मुस्लिम आरक्षण को लेकर यादव के वादे को झूठ बताते हुए राहुल ने कहा, ‘मुलायम सिंह कहते हैं कि वह 28 प्रतिशत आरक्षण देंगे. उच्चतम न्यायालय ने कहा है कि इतना आरक्षण नहीं दिया जा सकता लेकिन मुलायम कह रहे हैं कि वह देंगे. वह झूठ बोलते हैं. वह सोचते हैं कि जनता कुछ नहीं समझती.’

राहुल ने कहा, ‘मुलायम सिंह बिजली, पानी और आरक्षण देने की बात कर रहे हैं. वह सोचते हैं कि जनता कुछ नहीं समझेगी. वह वादे तो करते हैं मगर जब जनता के हक के लिये लड़ने की बात आती है तो कुछ नहीं करते.’ राहुल ने कहा, ‘मुलायम तीन बार मुख्यमंत्री बने. हमने पीडीएस का अनाज भेजा. उनके लोगों ने उसमें घोटाला किया. आपका भोजन चोरी किया.’ मायावती पर ‘यूपी शाइनिंग’ के मुगालते में जीने का आरोप लगाते हुए राहुल ने कहा कि मुख्यमंत्री के अफसरों ने उन्हें बताया कि वह बहुत अच्छी तरह शासन कर रही हैं और उत्तर प्रदेश चमक रहा है.

राहुल ने कहा, ‘ये बड़े-बड़े अफसर नेताओं की आंखें बंद कर देते हैं. मायावती जब मुख्यमंत्री बनीं तो उनके अधिकारियों ने कहा कि आप बहुत अच्छा काम कर रही हैं और आपको गांवों में जाने और मजदूरों, किसानों से बात करने की जरूरत नहीं है. उत्तर प्रदेश चमक रहा है.’ उन्होंने कहा, ‘मायावती ने भी समझ लिया कि उत्तर प्रदेश चमक रहा है और वह गांवों में जाना भूल गयीं. क्या आपमें कोई कमी है जो वह आपके यहां नहीं जातीं.’

राहुल ने कहा, ‘हिन्दुस्तान में सबसे बड़ी कमी यह है कि आपके नेता आपके बीच नहीं जाते. आपके घरों में, किसानों, महिलाओं और मजदूरों से बात नहीं करते. वे वादे करते हैं और फिर भूल जाते हैं.’ कांग्रेस महासचिव ने कहा, ‘मैं आपसे पूछना चाहता हूं कि जब बुनकर परेशानी में थे तब मुलायम सिंह कहां थे. क्या वह आपके लिये सड़कों पर लड़ रहे थे. मायावती अपने महल में थीं. अब वे दोनों ही कह रहे हैं कि बिजली और आरक्षण देंगे. दरअसल उनके वादे झूठे हैं और वे आपके सामने वह सब कुछ कह डालेंगे, जो आप सुनना चाहते हैं.

राहुल ने कहा, ‘विपक्षी दल बिजली देने के कोरे वादे करते हैं, सचाई यह है कि पिछले 22 साल से राज्य एक भी बिजली का कारखाना नहीं बना.’ उन्होंने कहा, ‘काम वादों से नहीं बल्कि नीयत से होता है. मेरी नीयत साफ है. मैं आपसे उत्तर प्रदेश को बदलने का सिर्फ एक वादा करने आया हूं. हम आपका हाथ पकड़ने और यूपी को बदलने आए हैं.’

कांग्रेस महासचिव ने कहा, ‘आप गरीब हैं आपकी कोई सुनवाई नहीं है. लेकिन मैं आपकी सुनूंगा. जब तक आप लोग प्रगति में शामिल नहीं होंगे तब तक मैं यहा खड़ा रहूंगा. आपके बीच आता रहूंगा.’

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें