scorecardresearch
 

मुलायम ने सपा प्रत्याशियों को दिया अल्टीमेटम

समाजवादी पार्टी (सपा) के मुखिया मुलायम सिंह यादव ने उत्तरप्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव के प्रत्याशियों को अल्टीमेटम देते हुए कहा कि अपने-अपने क्षेत्र में व्यापक जनसंपर्क और प्रचार में कमजोर प्रत्याशियों के पास एक पखवाड़े का समय है और उसके बाद उनकी समीक्षा की जाएगी.

समाजवादी पार्टी (सपा) के मुखिया मुलायम सिंह यादव ने उत्तरप्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव के प्रत्याशियों को अल्टीमेटम देते हुए कहा कि अपने-अपने क्षेत्र में व्यापक जनसंपर्क और प्रचार में कमजोर प्रत्याशियों के पास एक पखवाड़े का समय है और उसके बाद उनकी समीक्षा की जाएगी.

यादव ने प्रत्याशियों, पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए पार्टी उम्मीदवारों को जीत की शुभकामनाएं दीं और आगाह भी किया कि वे अपने-अपने क्षेत्र में व्यापक जनसंपर्क और प्रचार में कोई कोर कसर नहीं छोड़ें. कमजोर प्रत्याशियों को एक पखवाड़े की मोहलत दी गई है और उसके बाद उनकी समीक्षा की जाएगी.

उन्होंने कहा, ‘इसमें कोई ढील नहीं दी जाएगी क्योंकि हमें हर हाल में प्रदेश में सपा की सरकार बनानी है.’ यादव ने कार्यकर्ताओं का आहवान किया कि वे उत्तर प्रदेश की बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सरकार के कुकृत्यों का डटकर मुकाबला करें और आगामी विधानसभा चुनाव में सपा की सरकार बनवाएं. उन्होंने कहा, ‘फिजां हमारे पक्ष में है. जनता प्रदेश में सपा की सरकार चाहती है. अब चुनाव जीतने के लक्ष्य को लेकर सभी को मैदान में डट जाना है. जन-जन तक सपा की विचारधारा, नीति, कार्यक्रमों और उपलब्धियों को पहुंचाने के लिये कड़ी मेहनत करना है.’

यादव ने कार्यकर्ताओं का आहवान किया, ‘डरना नहीं, आप प्रदेश की बसपा सरकार की नाइंसाफी, लूट, रिश्वतखोरी और अत्याचारों का डटकर मुकाबला करें और वर्ष 2012 के विधानसभा चुनावों में एकजुट होकर सपा की सरकार बनवाएं ताकि वर्ष 2014 में केन्द्र में सरकार बनाने में सपा की भूमिका निर्णायक रहे.’ उन्होंने कहा, ‘पिछले साढ़े चार वर्षों के दौरान सपा संघर्ष के मोर्चे पर आगे रही है. जन आंदोलनों में पार्टी के कार्यकर्ताओं ने कुर्बानियां दी हैं. ऐसे हालात में बदलाव के लिये अगुवाई भी सपा को ही करनी है. हम सभी को जनता को निराश नहीं होने देना है.’

यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले चुनाव के नतीजों से राष्ट्रीय राजनीति को दिशा मिलेगी. जनता बसपा सरकार की काली करतूतों की सजा देना चाहती है. सपा प्रमुख ने एक बार फिर कहा कि भारत की उत्तरी सीमा पर चीन का अतिक्रमण बढ़ रहा है. यह राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ा सवाल है. ऐसे में सपा को राष्ट्रीय राजनीति में महत्वपूर्ण भूमिका निभानी होगी. उत्तर प्रदेश में सत्ता में आने के बाद ही सपा राष्ट्रीय राजनीति में प्रभावशाली ढंग से हस्तक्षेप करने में सक्षम होगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें