scorecardresearch
 

संसद में स्पीकर सुमित्रा महाजन पर बिफरे मुलायम, कहा- बड़े-बड़े स्पीकर देखे हैं मैंने

शून्यकाल के दौरान कई मसलों को लेकर सदस्य हंगामा कर रहे थे. कांग्रेस कोकराझार आतंकी हमले और देशभर में दलितों के मुद्दे पर हंगामा कर रही थी.

X
संसद में बोलते मुलायम सिंह यादव संसद में बोलते मुलायम सिंह यादव

लोकसभा में सोमवार को शून्यकाल के दौरान समाजवादी पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने सदन की कार्यवाही चलाने को लेकर सवाल उठा दिया. उन्होंने लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन पर निशाना साधते हुए कहा कि क्या शोर-शराबे के बीच ऐसे सदन की कार्यवाही चलेगी.

दरअसल, मामला कुछ यूं था कि शून्यकाल के दौरान कई मसलों को लेकर सदस्य हंगामा कर रहे थे. कांग्रेस कोकराझार आतंकी हमले और देशभर में दलितों के मुद्दे पर हंगामा कर रही थी. वाईएसआर कांग्रेस के सांसद आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने की मांग को लेकर एक सप्ताह से आसन के पास हंगामा कर रहे थे . इसी बीच मुलायम सिंह खड़े हो गए और कहा कि जो लोग मुद्दा उठा रहे हैं उनकी बात सुननी चाहिए.

'मांग जायज है तो मान लेनी चाहिए'
सपा सुप्रीमो ने कहा कि अगर इनकी मांग जायज है तो मान लेनी चाहिए. वरना इन्हें संतुष्ट करना चाहिए, लेकिन इस तरह हंगामा नारेबाजी के बीच कैसे सदन चलाए जा सकता है.

...और बिफर गए मुलायम
इस पर स्पीकर सुमित्रा महाजन ने कहा कि सदन की व्यवस्था है. कामकाज उसी के मुताबिक चलता है. किसी भी सदस्य को कभी भी बोलने की इजाजत नहीं दी जा सकती. हालांकि मुलायम सिंह स्पीकर के जवाब से संतुष्ट नहीं थे. उन्होंने कहा, 'लोकतंत्र बातचीत से चलता है. हमने बड़े-बड़े स्पीकर देखे हैं.' इस बात पर स्पीकर और मुलायम सिंह के बीच नोक झोंक हो गई.

स्पीकर सुमित्रा महाजन ने कहा, 'मैंने किसी को बोलने की अनुमति नहीं देने की बात कभी नहीं कही, लेकिन मैं नियमों के अनुसार ही चल रही हूं.' स्पीकर ने यह भी कहा कि जब भी जरूरत होती है, वह सभी राजनीतिक दलों के नेताओं से विचार-विमर्श करती रहती हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें