scorecardresearch
 

केरल की कई राज्यों ने की मदद, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

केरल में आई बाढ़ में 357 लोगों की मौत हो गई है. सेना, एनडीआरएफ कर्मियों, मछुआरों और स्थानीय लोग अपने घरों की छतों और निर्जन घरों में फंसे हजारों लोगों को बचाने के काम में जुटे हैं.

केरल में बाढ़ ने मचाई तबाही केरल में बाढ़ ने मचाई तबाही

केरल में बाढ़ ने बर्बादी मचा दी है. अब मृतकों की संख्या बढ़कर 357 तक पहुंच गई है. जबकि करीब 7 लाख लोग शिविरों में रहने पर मजबूर हैं. हालांकि, आज थोड़ी राहत भरी खबर है और रेड अलर्ट हटा लिया गया है. मौसम विभाग ने भी अगले पांच दिनों में बारिश में कमी की संभावना जताई है.

राज्य के 11 जिलों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है, जबकि 2 जिलों के लिए येलो अलर्ट जारी हुआ है. ऑरेंज अलर्ट के तहत क्षेत्र के ज्यादातर हिस्सों में बारिश की संभावना रहता है. जबकि येलो अलर्ट में कुछ हिस्से में बारिश का अनुमान होता है.

तबाही के बीच इस बीच केंद्र सरकार से लेकर तमाम राज्य सरकारें तबाही के इस वक्त में केरल की मदद के लिए आगे आई हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बाढ़ प्रभावित केरल को तत्काल 500 करोड़ रुपये की सहायता देने की घोषणा की है. पीएम मोदी ने सभी मृतकों के परिजन को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष (पीएमएनआरएफ) से 2-2 लाख रुपये की सहायता राशि और गंभीर रूप से घायल लोगों को 50-50 हजार रुपये देने की भी घोषणा की.

कई राज्य आए आगे, मदद का ऐलान

केंद्र की मदद के अलावा कई राज्यों ने भी केरल को मदद राशि देने का ऐलान किया है. तेलंगाना ने 25 करोड़, महाराष्ट्र ने 20 करोड़, उत्तर प्रदेश ने 15 करोड़, उत्तराखंड ने 5 करोड़, तमिलनाडू ने 5 करोड़, गुजरात ने 10 करोड़, झारखंड ने 5 करोड़, मध्य प्रदेश ने 10 करोड़, ओडिशा ने 5 करोड़, बिहार ने 10 करोड़, हरियाणा ने 10 करोड़, पश्चिम बंगाल ने 10 करोड़ रुपये, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने 2 करोड़ रुपये की मदद राशि देने का ऐलान किया है.

LIVE UPDATES...

> टीआरएस के 20 सांसदों ने एक माह का वेतन दान करने का किया ऐलान.

> आंध्र प्रदेश के आईएएस ऑफिसर एसोसिएशन ने अपनी एक दिन की सैलरी केरल बाढ़ पीड़ितों को देने का ऐलान किया है.

> पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी केरल बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए हाथ बढ़ाया है. उन्होंने 10 करोड़ की सहायता राशि देने का ऐलान किया है. 

> लिवरपूल फुटबॉल क्लब ने भी केरल के बाढ़ पीड़ितों के लिए मदद करने की बात कही है. लिवरपूल के सीईओ पीटर मोरे ने बाढ़ पीड़ितों को हर संभव मदद करने का वादा किया है. बता दें कि केरल में यूरोपियन फुटबॉल और खास तौर पर लिवरपूल के बड़ी संख्या में समर्थक रहे हैं.

> सेना, एनडीआरएफ कर्मियों, मछुआरों और स्थानीय लोग अपने घरों की छतों और निर्जन घरों में फंसे हजारों लोगों को बचाने के काम में जुटे हैं.

> इंडियन कॉमर्शियल पाइलट एसोसिएशन ने पीएम मोदी को पत्र लिख कहा है कि एयर इंडिया के एयरबस 320 और बोइंग 787 के पायलटों ने बिना सैलरी के विमान उड़ाने और > केरल में राहत बचाव कार्य के ऑपरेशन में मदद करने का वादा किया है.

> तेलंगाना ने 25 करोड़ रुपये देने का ऐलान किया है. साथ ही आईटी मंत्री केटी रामा राव ने अपनी एक महीने की सैलरी भी बाढ़ पीड़ितों तक पहुंचाने का वादा किया है.

> उत्तराखंड सरकार के सभी मंत्रीगण व भाजपा के सभी विधायक भी अपने एक माह का वेतन केरल के बाढ़ पीड़ितों की सहायता के लिए देंगे.

> मुख्यमंत्री पिनारायी विजयन बताया कि शनिवार को कुल 33 लोगों की मौत हो गई. इसी के साथ केरल बाढ़ में मरने वालों की संख्या बढ़कर 357 तक पहुंच गई है.

> शनिवार को जारी आंकड़ों को मुताबिक पिछले 10 दिनों में 207 लोगों की मौत हुई है. 38 लोग गायब हैं और 133 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

> केरल में बनाए गए 3471 कैंपों में 680,247 लोग शरण लिए हुए हैं. इस बाढ़ में 4930 घर ध्वस्त हो गए हैं.

> सुप्रीम कोर्ट के मलयाली वकीलों की तरफ से 5 ट्रक में सामान लोड करके दवा, नैपकिन और जरूरत के सभी सामान को नेवी के विशेष विमान से मध्यरात्रि को भेजा है. ये कोच्चि बन्द होने की वजह से त्रिवेंद्रम पहुंचेगा.

> तमिलनाडू ने 500 टन चावल, 300 टन मिल्क पाउडर, 15,000 लीटर अल्ट्रा हाई टेंप्रेचर मिल्क, 10,000 कंबल, धोती और लूंगी भेजने का ऐलान किया है.

> अभिनेता रजनीकांत ने 15 लाख रुपये की मदद का वादा किया है.

> दिल्ली सरकार के सभी आम आदमी पार्टी विधायकों और आप के सांसदों ने अपनी एक महीने की सैलरी देने का ऐलान किया है. साथ ही सरकार ने राजधानी में कई जगह कपड़े दान में लेने के लिए सेंटर्स बनाए हैं.

> जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने अपनी एक महीने की सैलरी देने की बात कही है.

> MCHI-CREDAI ने 1.5 करोड़ रुपये, राजस्थानी वेलफेयर एसोसिएशन और JITO इंटरनेशनल ने 51 लाख रुपये देने का ऐलान किया है.

> कांग्रेस के विधायकों ने अपनी एक महीने की सैलरी देने की बात कही है.

हेल्पलाइन नंबर जारी

केरल में बाढ़ग्रस्त इलाकों के लिए सरकार ने कई हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं. डीसी कोडागू के लिए +91-9482628409, सीईओ जेडपी कोडागू के लिए +91-9480869000. हेलीकॉप्टर हेल्पलाइन- +918281292702, चंद्रू- +919663725200, धनजय- +91 9449731238, महेश- +91 9480731020, आर्मी- +919446568222.

NDRF की 169 टीमें बचाव कार्य में जुटीं

बाढ़ में फंसे लोगों को बचाने के लिए NDRF की टीम ने पूरी जी-जान लगा दी है. अब तक केरल में एनडीआरएफ की कुल 169 टीमें बचाव कार्य में जुटी हुई हैं. इसके अलावा वायुसेना, थल सेना, कोस्ट गार्ड, नेवी, बीएसएफ के अलावा तमाम एजेंसियां पूरी ताकत से राहत कार्य में लगी हुई हैं.  

NDRF की 169 टीमों के अलावा एयरफोर्स के 22 हेलिकॉप्टर, नेवी की 40 नाव, कोस्ट गार्ड की 35 नाव, बीएसएफ की 4 कंपनियों के अलावा केरल पुलिस, स्थानीय युवा और मछुआरे तक लोगों को बचाने में जुटे हैं. अब तक चार लाख लोगों को बचाया गया है.

NDRF का एक राज्य में अब तक का सबसे बड़ा ऑपरेशन

केरल के लोगों को बचाने के लिए एनडीआरएफ ने देश में अब तक का सबसे बड़ा ऑपरेशन शुरू किया है. एनडीआरएफ के एक प्रवक्ता ने कहा कि 2006 में NDRF के गठन के बाद से किसी एक राज्य में अब तक यह सबसे बड़ी तैनाती है. इस तरह यह अब तक का हमारा सर्वाधिक बड़ा रेस्क्यू ऑपरेशन है.

केरल ने मांगे 2000 करोड़ लेकिन मिले 500 करोड़

केरल सरकार ने हालांकि 2000 करोड़ रुपये की तत्काल सहायता मांगी थी और प्रधानमंत्री को सूचित किया कि इस आपदा में राज्य को 19 हजार 512 करोड़ रुपये की क्षति हुई है. 500 करोड़ रुपये की यह सहायता 12 अगस्त को गृह मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा घोषित 100 करोड़ रुपये की सहायता के अतिरिक्त है.

मोदी ने कहा, 'केन्द्र सरकार यह सुनिश्चित कर रही है कि प्रधानमंत्री आवास योजना, मनरेगा, विभिन्न सामाजिक सुरक्षा योजनाओं, बागवानी के समन्वित विकास के लिए मिशन के लाभ केरल के प्रभावित लोगों तक प्राथमिकता के आधार पर पहुंचे.'

‘राष्ट्रीय आपदा’ घोषित हो: कांग्रेस

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी चाहते थे कि प्रधानमंत्री केरल की बाढ़ को ‘राष्ट्रीय आपदा’ घोषित करें. राज्य के सभी बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में पैक्ड हाउस बोट और रबर की नौकाओं को जलमग्न सड़कों से गुजरते देखा जा सकता है.

एर्नाकुलम जिले में मुख्य रूप से परावुर और अलुवा तालुक में 54,000 से अधिक लोगों को बचाया गया है. वहां पिछले दो दिनों में भारी बारिश और गंभीर जल जमाव देखा गया. पिछले दो दिनों से कोच्चि के पास कलाडी में श्री शंकराचार्य विश्वविद्यालय के परिसर में एक इमारत में फंसे हुए 600 से ज्यादा छात्रों को आज बचाया गया.

स्थानीय नेताओं ने कहा कि एर्नाकुलम जिले के परावुर क्षेत्र में हजारों लोग फंसे हुए हैं. अभी तक कई लोगों के फंसे होने के मद्देनजर अधिकारियों ने आज बचाव अभियान के लिए निजी नौकाओं और स्कूल बसों को देने के आदेश जारी किए.

संपर्क से दूर हुआ यह जिला

पालक्काड जिले में नेल्लियंपैथी का संपर्क पूरी तरह से कट गया है क्योंकि एक पुल बह गया है और लगातार बारिश और भूस्खलन में सड़क पर भारी चट्टान गिर गए हैं. मौसम विभाग ने 20 अगस्त तक केरल के विभिन्न स्थानों पर भारी वर्षा का पूर्वानुमान जताया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें