scorecardresearch
 

प्याज फिर रुलाने की तैयारी में, महंगाई और सूखा पर टीम मोदी आज करेगी मंथन

महंगाई रोकथाम के लिए शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी कैबिनेट के सात मंत्रियों के साथ बैठक करने वाले हैं. ये बैठक पीएमओ में दोपहर तीन बजे होगी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

महंगाई पर रोकथाम के लिए शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी कैबिनेट के सात मंत्रियों के साथ बैठक करने वाले हैं. ये बैठक पीएमओ में दोपहर तीन बजे होगी. बैठक का एजेंडा महंगाई रोकने के उपाय करने के साथ ही कम बरसात और सूखे की आशंका से निपटने के लिए कार्य योजना बनाना होगा.

बैठक में कृषि मंत्रालय से जुड़े खाद्य प्रसंस्करण, खाद्य आपूर्ति, लोक वितरण जैसे मंत्रालयों की कार्ययोजना पर चर्चा होगी. इस बैठक में सभी मंत्री प्रधानमंत्री को अपनी कार्ययोजना पर प्रेजेटेंशन देंगे.

सूखे से निपटने की जिम्मेदारी पर कार्ययोजना तैयार करने की जिम्मेदारी मोदी कैबिनेट के दो मंत्रियों राधामोहन सिंह और रामविलास पासवान पर सबसे ज्यादा होगी. राधामोहन जहां कृषि मंत्रालय संभाल रहे हैं, वहीं रामविलास पासवान खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय संभाल रहे हैं. गौरतलब है कि 2012 से महंगाई दर लगातार 8 फीसदी से ऊपर बनी हुई है. ऐसे में इस बार कम बरसात हुई या सूखा पड़ा तो खाने पीने की चीजों की दामों में और इजाफा होना तय है.

इधर मोदी सरकार महंगाई काबू करने के उपाय खोज रही है, तो उधर प्याज ने अभी से रंग दिखाना शुरू कर दिया है. मुंबई में 1 जून को प्याज 10 से 15 रुपये प्रति किलो बिक रहे थे, लेकिन अब खुदरा बाजार में उसी प्याज का दाम 25 से 30 रुपये के बीच आ गया है. यानी प्याज दोगुने से ढाई गुना ज्यादा तक महंगी हो गई है. खुदरे बाजार सहित थोक बाजार में भी प्याज का भाव चढ़ा हुआ है. मुंबई में वाशी के थोक बाजार में प्याज की कीमत 13 से 18 रुपये तक खुली. इसमें खराब क्वालिटी की प्याज 13 रुपये की दर से, जबकि अच्छी क्वालिटी वाली 18 के भाव से बिक रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें