scorecardresearch
 

निर्मला के प्याज वाले बयान पर बोले कृषि मंत्री- यह उनका निजी मामला

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के प्याज नहीं खाने वाले बयान पर केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का कहना है कि यह उनका व्यक्तिगत मामला है. हर व्यक्ति अपने तरीके से करता है. अगर वह प्याज नहीं खाती है उसमें किसी को क्या आपत्ति हो सकती है.

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (फाइल-ट्विटर) केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (फाइल-ट्विटर)

  • बेमौसम बारिश से खराब हुई फसलः तोमर
  • 'दाम पर कांग्रेस देश को गुमराह नहीं करे'

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के प्याज नहीं खाने वाले बयान पर केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का कहना है कि यह उनका व्यक्तिगत मामला है. हर व्यक्ति अपने तरीके से करता है. अगर वह प्याज नहीं खाती है उसमें किसी को क्या आपत्ति हो सकती है.

संसद में प्याज खाने को लेकर लोकसभा में कुछ सदस्यों के सवालों पर निर्मला सीतारमण ने बुधवार को कहा था, 'मैं इतना लहुसन, प्याज नहीं खाती हूं जी. मैं ऐसे परिवार से आती हूं जहां अनियन (प्याज) से मतलब नहीं रखते.' वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण महाराष्ट्र के बारामती से राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) की सांसद सुप्रिया सुले के सवालों पर जवाब देने के लिए खड़ी हुईं. उसी दौरान कुछ सदस्यों ने सवाल किया कि क्या आप (निर्मला सीतारमण) प्याज खाती हैं.

सदस्यों के इसी सवाल पर निर्मला सीतारमण ने ये जवाब दिया. हालांकि उनके इस बयान के बाद उनकी आलोचना की जा रही है. सोशल मीडिया ने भी इस पर खूब खिंचाई की.

देश को गुमराह नहीं करे कांग्रेसः तोमर

प्याज की लगातार बढ़ती कीमतों को लेकर पूर्व वित्त मंत्री चिदंबरम समेत कांग्रेस के कई नेताओं के आज गुरुवार को संसद भवन में प्रदर्शन पर नरेंद्र सिंह तोमर का कहना है कि चिदंबरम हों या बाकी कांग्रेस हो, हमारे लिए तो कांग्रेस ही है. और मैं कांग्रेस से आग्रह करना चाहता हूं कि कीमतों के बढ़ने का जो विषय है यह उनके भी संज्ञान में है उनको देश को गुमराह नहीं करना चाहिए.

प्याज की कीमतों में वृद्धि के कारणों पर कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि प्याज के दामों में बढ़ोतरी का कारण प्राकृतिक आपदा है. बेमौसम जो बारिश हुई है, उससे बड़ी मात्रा में प्याज की फसल प्रभावित हुई हैं. इससे प्याज का उत्पादन भी प्रभावित हुआ है, इसलिए प्याज की आवक कम है.

उन्होंने कहा कि प्याज की फसल बर्बाद होने के कारण प्याज की आवक कम है जिससे लोगों को तकलीफ हो रही है. यह सरकार के संज्ञान में है और सरकार इस पर गंभीरता से कार्य कर रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें