scorecardresearch
 

बजट की तान पर झूमा शेयर बाजार, सेंसेक्स 122 अंक बढ़ा

इस वर्ष के शुरू से लगातार बिकवाली के दबाव में चल रहा शेयर बाजार सोमवार को पेश 2011-12 के बजट से जोश में दिखा. लोकसभा में वित्तमंत्री के बजट भाषण के आगे बढ़ने के साथ बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स करीब 600 अंक तक चढ़ गया था.

इस वर्ष के शुरू से लगातार बिकवाली के दबाव में चल रहा शेयर बाजार सोमवार को पेश 2011-12 के बजट से जोश में दिखा. लोकसभा में वित्तमंत्री के बजट भाषण के आगे बढ़ने के साथ बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स करीब 600 अंक तक चढ़ गया था.

बाद में उंची कीमतों पर मुनाफा वसूली का दबाव बढ़ने से बाजार कुछ नीचे आ गया, फिर भी सेंसेक्स शुक्रवार की तुलना में 122 अंक लाभ में रहा. बजट में भारतीय कंपनियों पर उपकर को 7. 5 से घटाकर पांच प्रतिशत कर दिया गया है और विदेशी निवेशकों को पंजीकृत म्युचुअल फंडों में सीधे निवेश की छूट दी गयी है.

निवेश के अनुकूल प्रावधानों की घोषणा पर सेंसेक्स 122. 40 अंक सुधरकर 17,823. 40 अंक पर बंद हुआ. इसी प्रकार नेशनल स्टाक एस्क्सचेंज का निफ्टी में भी 29. 70 अंक की बढ़ोतरी दर्ज की गयी और यह 5,477 अंक तक पहुंचने के बाद 5,477 अंक पर बंद हुआ.

आज संसद में पेश बजट में कारपोरेट निगमित उपकरों में कटौती के प्रस्ताव एवं विनिवेश बढ़ाने के उपायों से बाजार में तेजी रही. इसके अलावा आयकर की सीमा बढ़ाये जाने से भी बाजार धारणों को बल मिला.{mospagebreak} टीसीएम एसोसिएट के चार्टर्ड एकाडन्टेंट तरुण मलिक ने कहा कि बजट के प्रावधानों से निवेशकों में उत्साह आया और बाजार की धारणा मजबूत हुयी.

उन्होंने कहा कि न्यूनतम वैकल्पिक कर (मैट) में हल्की वृद्धि का बाजार पर असर नहीं पड़ा. मैट की दर 18 से बढ़ाकर 18. 5 फीसद करने का प्रस्ताव है. आज उपभोक्ता सामान, सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों, एवं तेलशोधन कंपनियों और पूंजीगत सामान के शेयरों में तेजी की वजह से बाजार धारणा सुधरी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें