scorecardresearch
 

ममता का असली चेहरा सामने, मोदी से लड़ने की ताकत नहीं: गिरिराज सिंह

गिरिराज सिंह ने कहा, ममता एक तरफ तो रामचंद्र रामनवमी का जुलूस निकालती हैं और दूसरी तरफ अस्त्र-शस्त्र निकालने पर सवाल उठाती हैं. यह हमारी परंपरा है.

गिरिराज सिंह (फाइल) गिरिराज सिंह (फाइल)

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए कहा कि, उनका असली चेहरा सामने आ गया. वो पंडितों का सम्मेलन करती हैं लेकिन मन में मुसलमानों का भय समाया हुआ है. पश्चिम बंगाल में हिंदू सुरक्षित नहीं हैं. जब से यह सरकार आई है राम भक्तों पर लाठियां चलाई गईं. दुर्गा मूर्ति विसर्जन को तबाह किया गया.

गिरिराज सिंह ने कहा, ममता एक तरफ तो रामचंद्र रामनवमी का जुलूस निकालती हैं और दूसरी तरफ अस्त्र-शस्त्र निकालने पर सवाल उठाती हैं. यह हमारी परंपरा है. हिम्मत है तो कह दें कि ताजिया में मुसलमान हथि‍यार लेकर न चलें. लेकिन वो ऐसा नहीं कहेंगी क्योंकि मुसलमानों के वोट का डर है. जिस दिन हिंदू एक हो जाएगा यही ममता बनर्जी हिंदुओं के हर धर्म को अपनाएंगी.

गिरिराज सिंह ने आगे कहा कि, दिलीप घोष पर जो कटाक्ष कर रहे हैं उससे कुछ फर्क नहीं पड़ता. जनता उनके साथ हैं. बता दें, बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष दिलीप घोष ने हथियारों के साथ रैली निकाले जाने को सही ठहराया है.

ममता बनर्जी के दिल्ली दौरे पर गिरिराज सिंह ने कहा, किसी में भी नरेंद्र मोदी के खिलाफ लड़ने की ताकत नहीं है. सब मिलकर इकट्ठे हो रहे हैं. अगर हिम्मत है तो 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए कोई एक उम्मीदवार खड़ा करके दिखाएं.

गौरतलब है कि, लोकसभा चुनाव में बीजेपी का मुकाबला करने के लिए गैर कांग्रेसी राजनीतिक दलों में थर्ड फ्रंट बनाने की चर्चा तेज है. तृणमूल कांग्रेस प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी थर्ड फ्रंट की संभावनाओं को तलाशने के लिए दिल्ली में हैं. मंगलवार को इस सिलसिले में उन्होंने संसद के सेंट्रल हॉल में कई दलों के नेताओं से मुलाकात की.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें