scorecardresearch
 

राहुल गांधी और विजय माल्या के बाद इस हैकर ग्रुप के निशाने पर संसद

इंटरव्यू में लीजन ने दावा किया है कि वह अपोलो अस्पताल के सर्वर तक अपनी पहुंच बना चुका है. अपोलो में करीब 3 महीने भर्ती रहने के बाद जयललिता का निधन हो गया था.

लीजन- हैकर ग्रुप लीजन- हैकर ग्रुप

राहुल गांधी, कांगेस और विजय माल्या का ट्विटर एकाउंट हैक करने वाले हैकर ग्रुप लीजन का अगला टारगेट संसद की वेबसाइट है. sansad.nic.in सरकारी कर्मचारियों को ईमेल सर्विसेज मुहैया कराती है. हैकर ग्रुप लीजन के एक सदस्य ने एक चैट इंटरव्यू में बताया कि उनका अगला लक्ष्य sansad.nic.in है, जो कि काफी बड़ा निशाना है. इसमें कई बड़ी मछलियां हैं.

एक और इंटरव्यू में लीजन ने दावा किया है कि वह अपोलो अस्पताल के सर्वर तक अपनी पहुंच बना चुका है. अपोलो में करीब 3 महीने भर्ती रहने के बाद जयललिता का निधन हो गया था. लीजन ने अभी तक उन सर्वरों से मिले आंकड़ों को जारी करने के लिए अभी कुछ सुनिश्चित नहीं किया है. उनका दावा है कि इससे भारत में हड़कंप मच सकता है. हैकर समूह ने यह भी दावा किया कि भारत की डिजिटल बैंकिंग प्रणाली साइबर हमलों की चपेट में है.

इंटरव्यू में दावा किया गया कि भारत के 40 हजार से अधिक सर्वरों को हैक किया गया है और ये तो बस शुरुआत है. इस हैकर ग्रुप ने पत्रकार बरखा दत्त और रवीश कुमार का भी ट्विटर अकाउंट हैक कर लिया था. हैक किए गए इस ट्विटर हैंडल से हैकर्स ने बरखा दत्त के ईमेल आईडी की तमाम जानकारी शेयर कर दी जो 1.5GB की हैं. लीजन नाम के इस हैकर ग्रुप ने रवीश कुमार के हैक किए गए ट्विटर एकाउंट से कहा है कि अगला नंबर ललित मोदी का है. इस ग्रुप ने लोगों से ललित मोदी का अकाउंट लीक के लिए तैयार रहने को कहा है.

ऐसा नहीं है कि सिर्फ इनका ही ट्विटर अकाउंट हैक हुआ है. चाहे फेसबुक फाउंडर मार्क जकरबर्ग हों या फिर गूगल के सईओ सुंदर पिचाई इन सबके अकाउंट कथित तौर पर हैक किए गए थे. लेकिन इनमें फर्क है, क्योंकि उन अकाउंट्स को हैक करके हैकर्स ने कहा था कि उन्होंने ये बताने के लिए अकाउंट हैक किया है कि आईडी की सिक्योरिटी कितनी कमजोर है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें