scorecardresearch
 

मोदी की वजह से देश सन 47 के मुहाने पर, सिंघल पैदा करके दिखाएं 5 बच्चे: लालू यादव

अपनी पार्टी में टूट का काफी हद तक 'डैमेज कंट्रोल' करने के बाद आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने आक्रामक रुख अख्तियार कर लिया है. मंगलवार शाम पटना में प्रेस कांफ्रेंस करके उन्होंने नीतीश कुमार और प्रदेश विधानसभा सचिव उदय नारायण पर आरजेडी को तोड़ने की साजिश रचने का आरोप लगाया और 'नरेंद्र मोदी हटाओ, देश बचाओ' का नारा भी बुलंद किया.

प्रेस कांफ्रेंस में लालू यादव प्रेस कांफ्रेंस में लालू यादव

अपनी पार्टी में टूट पर कुछ हद तक काबू पाने के बाद आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने आक्रामक रुख अख्तियार कर लिया है. मंगलवार शाम पटना में प्रेस कांफ्रेंस करके उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और प्रदेश विधानसभा सचिव उदय नारायण पर आरजेडी को तोड़ने की साजिश रचने का आरोप लगाया और साथ ही 'नरेंद्र मोदी हटाओ, देश बचाओ' का नारा भी बुलंद किया.

प्रेस कांफ्रेंस के दौरान लालू की भाषा और तेवर बेहद हमलावर रहे. उदय नारायण पर नक्सलियों से संबंध रखने का आरोप लगाते हुए उन्होंने यहां तक कह दिया कि उनके घर पर छापा मारा जाए तो अब भी 3-4 नक्सली मिल जाएंगे. अतीत की किसी रहस्यमयी झोली से उठाकर उन्होंने कई सनसनीखेज आरोप विपक्षी नेताओं पर लगाए तो बीजेपी और संघ की भी जमकर खबर ली. उन्होंने प्रदेश के मुद्दों पर बोलना शुरू किया, फिर राष्ट्रीय राजनीति के मसले भी उनके हमलों की जद में आ गए. उन्होंने कहा कि मोदी और आरएसएस की वजह से देश दोबारा 1947 के मुहाने पर खड़ा हो गया है.

'तो सिंघल पैदा करें 5 बच्चे'
लालू का गुस्सा बीजेपी के पीएम उम्मीदवार नरेंद्र मोदी और हिंदुओँ को पांच बच्चे पैदा करने की सलाह देने वाले विश्व हिंदू परिषद के नेता अशोक सिंहल पर भी फूटा. उन्होंने सिंघल को ही पांच बच्चे पैदा करने की चुनौती दे डाली. साथ ही राजनाथ के मुसलमानों से माफी मांगने को भी 'नाटक' बताते हुए आड़े हाथों लिया. उनके शब्द थे, 'गलती है ये सब. ऊपर से आकर भूत बूचरिंग किया गुजरात में? भूत आकर मस्जिद तोड़ा? और अब कह रहे हैं तौबा. ये सब हिडन एजेंडा है. देखो. सिंघल बोला हिंदू पांच-पांच बच्चा पैदा करें. अरे बुड्ढे तुम पैदा करके दिखाओ.'

'जेल में पीटे गए थे अश्वनी चौबे'
लालू ने बिहार बीजेपी के नेता अश्वनी चौबे पर भी गंभीर आरोप लगाए. उनके शब्द थे, 'चौबे के विषय में बतावें हम. दलित महिला का मकान कब्जा कर लिया. ये सब बड़ा भारी मंदार बना हुआ है. कैदियों का राशन बेच दिया ये. जब हम जेपी मूवमेंट में जेल में थे. सब कैदी छड़ से मारकर चौबे को छलना-छलना कर दिया था. ये सब नेता बना हुआ है. बुलाओ चौबे को.'

'मोदी रिक्शा चलाए हैं?'
पार्टी तोड़ने की कोशिश ने जैसे लालू को तीखे सियासी हमलावर में तब्दील कर दिया था. उन्होंने मोदी के 'चायवाले' वाली छवि पर प्रहार करते हुए कहा, 'ऐ बात सुनिए. इसलिए आज हम बैठे. हम मिलर स्कूल में पढ़ते थे, तो पैसा नहीं रहता था. तो पैसंजर बैठाकर रिक्शा ढोए हैं. नरेंद्र मोदी रिक्शा चलाया है? चलो वेटनरी में, हम चाय बिस्कुट घोंटे हैं. ये सब नकली-नकली, कतल करके, नाश करके देश में दंगा कराना चाहता है.

'नीतीश की टपक रही है लार'
लालू ने आरोप लगाया कि नीतीश कुमार प्रधानमंत्री बनना चाहते हैं इसलिए तीसरे मोर्चे से जुड़ गए. उन्होंने कहा, 'कौन ठेस पहुंचा रहा है हमें. कौन इनको रोके है. हम बोले हैं, पीएम का सपना सब छोड़ दो. दौड़ दौड़ जो जा रहा है नीतीश कुमार, इसका लार टपक रहा है. कहीं कुछ चुए तो हम पा लेंगे. हर आदमी एक दूसरे को मूर्ख बना रहा है. देश में पीएम का सवाल नहीं है. 47 की स्थिति होने जा रहा है. ये नरेंद्र मोदी और आरएसएस पैदा करने जा रहा है. देश टूटेगा या बचेगा, इसलिए हमारा कॉल है, हमारी जितनी शक्ति है. मोदी और भाजपा हटाओ, नीतीश को घसकाओ, देश और बिहार बचाओ.'

जब लालू से पासवान और बीजेपी की नजदीकी के बारे में पूछा गया तो वह बोले, 'आप यहां झगड़ा लगाने आए हैं? बीजेपी और नीतीश मिलकर पासवान भाइयों को महादलित कैटेगरी से निकलवाया.'

टूट के बाद लालू 9 विधायकों को वापस आरजेडी में लाने में सफल रहे. लेकिन जब बाकी 4 विधायकों और उन पर संभावित कार्रवाई के बारे में पूछा गया तो बोले, 'आपको दर्द क्यों हो रहा है? माने नौ गो आदमी बोल रहा है, उसको धन्यवाद नहीं दे रहे हैं. हमारी बात हुई. बोले भइया फंसे हुए हैं. कौन चीज की कार्रवाई करेंगे. नहीं रहेगा, नहीं रहेगा. हम गला काट देंगे किसी का. मान लो चला ही गया.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें