scorecardresearch
 

जानें कैशलेस सिस्टम में कितना सुरक्षित है आपका पैसा?

पहली आशंका सरकार की तरफ से दूर की जा रही है, जिसमें हर किसी को कैशलेस सिस्टम से रूबरू कराया जा रहा है. इसमें कैशलेस ट्रांसजेक्शन की ट्रैनिंग से लेकर कैशलेस भुगतान के तरीकों में बढ़ोतरी तक शामिल है.

कैशलेस पेमेंट कितना सुरक्षित कैशलेस पेमेंट कितना सुरक्षित

कैशलेस सिस्टम की चर्चा हर जगह है, क्योंकि देश के पीएम अब कैशलेस सिस्टम की वकालत कर रहे हैं और इसी को देश का भविष्य बता रहे हैं. बैंकों और एटीएम के बाहर लाइन में लगी जनता भी अब कैश की कमी के चलते कैशलेस सिस्टम की तरफ आकर्षित हो रही है. लेकिन तमाम आशंकाएं लोगों के मन में है, एक तो कैशलेस सिस्टम को इस्तेमाल करने को लेकर और दूसरे इस सिस्टम से जुडे जोखिमों को लेकर.

पहली आशंका सरकार की तरफ से दूर की जा रही है, जिसमें हर किसी को कैशलेस सिस्टम से रूबरू कराया जा रहा है. इसमें कैशलेस ट्रांसजेक्शन की ट्रैनिंग से लेकर कैशलेस भुगतान के तरीकों में बढ़ोतरी तक शामिल है. ज्यादा मोबाइल वॉलेट के आप्शन उपलब्ध कराए जा रहे हैं, ताकि लोग किसी एक तरीके पर निर्भर न रहें. इसके अलावा दूसरी आशंका कैशलेस लेनदेन के दौरान होने वाली गड़बड़ी और धोखाधड़ी को लेकर है.

केंद्र सरकार के इन्फोरमेशन एंड टेक्नोलाजी मंत्रालय की एक एजेंसी इंडियन कम्प्यूटर एमरजेंसी रिस्पोंस टीम ने लोगों को ऑनलाइन पेमेंट को लेकर सावधानी बरतने की हिदायतें दी हैं. एजेंसी ने अपनी एडवायज़री में कहा है कि ऑनलाइन मोबाइल या कम्प्यूटर के जरिए आप भुगतान कर रहे हैं, तो आपको अपनी गोपनीय जानकारियों को लेकर सावधान होगा. साथ ही फिशिंग या फ्रॉड साइट से भी सावधान रहना होगा.

साइबर एक्सपर्ट मोनिक मेहरा के मुताबिक आनलाइन लेनदेन या इंटरनेट बैंकिंग को चलते हुए काफी वक्त हो गया है. इसमें कई तरह के फ्रॉड सामने आए और कई खामियां भी आयीं, जिससे लोग धोखाधड़ी के शिकार हुए हैं, लेकिन जैसे गड़बड़ियां सामने आयीं, वैसे ही उन गड़बड़ियों से बचने के तरीके निकाले गऐ और अब इंटरनेट बैंकिंग काफी हद तक सुरक्षित है. लेकिन फिर भी ऑनलाइन लेनदेन में कुछ सावधानियां है, जिनके जरिए आगे भी गड़बड़ी या धोखाधड़ी से बचा जा सकता है.

पढ़े साइबर एक्सपर्ट मोनिका मेहरा के ऑनलाइन ट्रांजेक्शन टिप्स :

1. कैशलेस सिस्टम आसान है लेकिन सावधान रहने की जरूरत है क्योंकि इसमें लगातार फ्रॉड का खतरा बना रहता है.

2. ऑनलाइन या कार्ड पेमेंट में बहुत फ्रॉड हुए, लेकिन अब इसको सिक्योर बनाया गया है.

3. कुछ बातें हैं, जिनका ध्यान रखकर आप नार्मल फ्रॉड से बच सकते हैं.

4. संदिग्ध ईमेल न खोलें, बैंक के नाम से मिलती जुलती वेबसाइट पर न जाएं.

5. अपनी जरूरी जानकारी शेयर न करें, जैसे एटीएम पासवर्ड या पिन नंबर.

6. पब्लिक wi-fi का इस्तेमाल बैंक ट्रांसफर में न करें.

7. मोबाइल वॉलेट से ट्रांसफर करते वक़्त जानकारी सही दें.

8. जैसे-जैसे नए मामले सामने आ रहे है, सिक्योरिटी का पता चल रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें