scorecardresearch
 

JNU की जख्मी छात्रा का दावा- AIIMS में हुआ भेदभाव, डॉक्टर ने पूछा- लेफ्ट से हो या ABVP से?

ABVP कार्यकर्ता कृतिका सेन ने दावा किया है कि हिंसा के बाद जब उन्हें AIIMS में भर्ती किया गया तो डॉक्टरों ने उनसे पूछा कि आप कौन-सी विंग से हैं? ABVP या फिर लेफ्ट?

JNU हिंसा पर जारी है प्रदर्शन (फोटो: PTI) JNU हिंसा पर जारी है प्रदर्शन (फोटो: PTI)

  • जेएनयू हिंसा पर ABVP का आरोप
  • एम्स में डॉक्टरों ने किया भेदभाव: ABVP कार्यकर्ता
  • इलाज से पहले डॉक्टरों ने विंग के बारे में पूछा
दिल्ली की जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी में हुई हिंसा के बाद ABVP और लेफ्ट कार्यकर्ताओं की तरफ से अलग-अलग दावे किए जा रहे हैं. ABVP कार्यकर्ता कृतिका सेन ने दावा किया है कि हिंसा के बाद जब उन्हें AIIMS में भर्ती किया गया तो डॉक्टरों ने उनसे पूछा कि आप कौन-सी विंग से हैं? ABVP या फिर लेफ्ट?

पांच जनवरी को JNU में हुई हिंसा के बाद घायल छात्रों को AIIMS में भर्ती कराया गया था. ABVP कार्यकर्ता और JNU के स्टूडेंट इंडिया टुडे से कहा कि एम्स में डॉक्टरों ने उनके साथ दुर्व्यवहार किया. डॉक्टरों ने हमसे पूछा कि तुम किस विंग के हो?

उन्होंने आरोप लगाया कि JNU कैंपस में ABVP अल्पसंख्यक है, ऐसे में सोचिए कि कौन सेफ हा या नहीं है. उन्होंने कहा कि AIIMS में ABVP कार्यकर्ताओं के साथ भेदभाव के साथ इलाज किया गया, वह शाम को 6 बजे भर्ती हुईं जबकि आइशी घोष रात को नौ बजे. लेकिन उनके समर्थकों का इलाज पहले किया गया.

प्रियंका गांधी पर भी लगाया आरोप

इतना ही नहीं ABVP के कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा पर भी आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि प्रियंका गांधी के लोग जब अस्पताल में आए, तो उन्होंने सबसे पहले हमसे पूछा कि वो किस विंग के सपोर्टर हैं?

ABVP कार्यकर्ताओं ने कहा कि प्रियंका गांधी ने पहले कुछ छात्रों को शॉल दी, लेकिन बाद में उनके लोगों ने शॉल वापस ले ली.

कृतिका सेन ने कहा कि वो (प्रियंका गांधी) एक नेता हैं, ऐसे में अगर वो शाम को हमला करने वाले लोगों पर सवाल कर रही हैं, तो फिर दिन में हमला करने वालों पर सवाल क्यों नहीं कर रही हैं. दिन में हमला करने वाले लोग कौन थे?

बता दें कि दिल्ली में पांच जनवरी को जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी में नकाबपोश लोगों ने हमला किया था. इस दौरान कैंपस में तोड़फोड़ की गई, इस दौरान छात्रों पर हमला किया गया. जिसमें 30 से अधिक लोग घायल हुए. इस मामले में पुलिस ने जांच शुरू कर दी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें