scorecardresearch
 

जेटली की जासूसी पर कांस्टेबल का कबूलनामा

बीजेपी के सीनियर नेता और राज्यसभा में विपक्ष के नेता अरुण जेटली की कॉल डिटेल्स की जानकारी मांगने के आरोप में गिरफ्तार दिल्ली पुलिस के कांस्टेबल अरविंद डबास ने पूछताछ में बताया है कि वह उत्तराखंड के प्रोपर्टी डीलर और जेटली के बीच संबंध जानना चाहता था.

बीजेपी के सीनियर नेता और राज्यसभा में विपक्ष के नेता अरुण जेटली की कॉल डिटेल्स की जानकारी मांगने के आरोप में गिरफ्तार दिल्ली पुलिस के कांस्टेबल अरविंद डबास ने पूछताछ में बताया है कि वह उत्तराखंड के प्रोपर्टी डीलर और जेटली के बीच संबंध जानना चाहता था.

पुलिस की पूछताछ में कांस्टेबल डबास ने बताया कि उसका पैसा उत्तराखंड के एक प्रोपर्टी डीलर के पास फंसा हुआ है. प्रॉपर्टी डीलर ने जेटली से फोन कराने को कहा था. प्रोपर्टी डीलर ने कांस्टेबल डबास से भी पैसे लिए.

कांस्टेबल ने बताया कि वह उस प्रॉपर्टी डीलर और जेटली के बीच संबंधों के बारे में जानना चाहता था इसलिए पुलिस ने ईमले भेजने में प्रयुक्त लैपटॉप और हॉर्डडिस्क फॉरेंसिक जांच के लिए भेजी दी है.

गौरतलब है अरुण जेटली की जासूसी के आरोप में दिल्ली में पुलिस कांस्टेबल को गिरफ्तार किया गया है. दिल्ली पुलिस के कांस्टेबल अरविंद डबास पर आरोप है कि उसने मोबाइल कंपनी से जेटली की कॉल डिटेल्स मांगी थीं. पुलिस कांस्टेबल ने एसीपी (ऑपरेशंस) के ई-मेल को हैक करके मोबाइल कंपनी से जेटली का नंबर लिखकर कॉल डिटेल्स मांगी थीं.

पुलिस ने डबास को आईटी ऐक्ट के तहत गिरफ्तार तो किया है, लेकिन 2 और लोगों की तलाश की कर रही है. इस मामले में पुलिस ने कुछ दिन पहले केस दर्ज किया था.

ऐसे सवाल उठाए जा रहे है कि आखिर कांस्टेबल ने जेटली की ही कॉल डिटेल्स क्यों मंगवाई, प्रोपर्टी डीलर की क्यों नहीं मंगवाई. कयास लगाए जा रहे हैं कि इस मामले के तार उत्तराखंड के कुछ नेताओं से जुड़े हो सकते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें