scorecardresearch
 

इवांका ट्रंप की हैदराबाद यात्रा से पहले शहर में भीख मांगने पर लगा बैन

कमिश्नर ऑफिस से जारी आदेश में कहा गया है, 'शहर में सार्वजनिक स्थानों और चौक-चौराहों पर भीख मांगने या बच्चे और अपंग लोगों से भीख मंगवाना प्रतिबंधित है. इस आदेश की अवहेलना करते पकड़े जाने पर दंडित किया जाएगा.'

इवांका ट्रंप इवांका ट्रंप

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी इंवाका के हैदराबाद यात्रा को देखते हुए उनके यहां रहने के दौरान शहर में भिखारियों पर रोक लगा दी गई है.

इवांका ट्रंप 28 से 30 नवंबर को होने वाली वैश्विक उद्यमिता शिखर सम्मेलन (जीईएस) में शामिल होने के लिए हैदराबाद आने वाली हैं. इसके बाद 15 दिसंबर से शहर में विश्व तेलुगू सम्मेलन शुरू होगा. यह सम्मेलन 5 दिनों तक चलेगा, जिसमें हजारों तेलुगू एनआरआई के शामिल होने की संभावना है.   

इन आयोजनों को देखते हुए प्रशासन ने इस हाईटेक सिटी की सड़कों की मरम्मत और मैनहोल की सफाई शुरू कर दी. वहीं पुलिस कमिश्नर ने शहर में भीख मांगने पर रोक लगा दी है. यह आदेश बुधवार सुबह 6 बजे से लेकर अगले साल 7 जनवरी तक लागू रहेगा.

कमिश्नर ऑफिस से जारी आदेश में कहा गया है, 'शहर में सार्वजनिक स्थानों और चौक-चौराहों पर भीख मांगने या बच्चे और अपंग लोगों से भीख मंगवाना प्रतिबंधित है. इस आदेश की अवहेलना करते पकड़े जाने पर दंडित किया जाएगा.'

पुलिस कमिश्नर का यह फरमान हैरान करने वाला जरूर है, लेकिन नया नहीं. इससे पहले पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बिल क्लिंटन की हैदराबाद यात्रा के दौरान भी इसी तरह के आदेश के जरिये भीख मांगने पर प्रतिबंध लगाया गया था.

बता दें कि हैदराबाद में होने वाले इस सम्मेलन का थीम 'सर्वप्रथम महिलाएं, सभी के लिए समृद्धि' रखा गया है. इसका मकसद महिला उद्यमियों की सहायता करना और वैश्विक आर्थिक वृद्धि को मजबूती देना है. इस मौके पर इवांका ट्रंप दुनियाभर के 1000 उद्यमियों को संबोधित करेंगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें