scorecardresearch
 

हमारे चुने हुए प्रतिनिधियों ने रेप पर दिए विवादित बयान, कब थमेगा यह सिलसिला!

रेप के संबंध में विवादास्पद और आपत्तिजनक बयानों का सिलसिला नया नहीं है. हमारे चुने हुए प्रतिनिधि चाहे वे किसी भी पार्टी के हों, इस विषय पर विवादास्पद बयान देते रहे हैं. आपको याद दिलाते हैं रेप पर हाल के दिनों में दिए गए कुछ विवादास्पद बयान:

Mulayam Singh Yadav, Babulal Gaur Mulayam Singh Yadav, Babulal Gaur

'गलती से रेप हो जाता है', 'लड़कों से गलती हो जाती है'. 21वीं सदी में भी ऐसे बयान सुनकर दुख होता है. रेप के संबंध में विवादास्पद और आपत्तिजनक बयानों का सिलसिला नया नहीं है. नेतागण चाहे किसी भी पार्टी के हों, इस विषय पर विवादास्पद बयान देते रहे हैं. आपको याद दिलाते हैं रेप पर हाल के दिनों में दिए गए कुछ विवादास्पद बयान, ताकि हमें हमारे चुने हुए प्रतिनिधियों की भाषा और सोच, दोनों स्मरण रहें.

रामदयाल उइके, कांग्रेस MLA, पाली तानाखार (छत्तीसगढ़): कोई भी रेप धोखे से नहीं होता. लड़के-लड़कियों में जब तक प्रेम रहता है, तब तक सब कुछ ठीक रहता है और जब संबंध बिगड़ जाता है, तो इसे रेप कहा जाता है.

रामसेवक पैकरा, बीजेपी, गृह मंत्री, छत्तीसगढ़: बलात्कार जैसी घटना कोई जानबूझकर नहीं करता. धोखे से सब करते हैं.

बाबूलाल गौर, मंत्री, मध्य प्रदेश सरकार: कोई हमसे कहकर तो जा नहीं रहा कि वह बलात्कार करने जा रहा है, ऐसा हो तो उसे पकड़ लिया जाए. उन्होंने कहा कि इस मामले में अगर कोई शिकायत करता है तो उस पर कार्रवाई कर सकते हैं लेकिन जब तक शिकायत नहीं होती तब तक क्या हो सकता है. यह पुरुष महिलाओं पर निर्भर करता है. कभी सही होता है, कभी गलत होता है, इसमें मुलायम सिंह या अखिलेश क्या कर सकते हैं.

रामगोपाल यादव, सपा नेता, मुलायम के भाई: टीवी चैनलों पर दिखाई जा रही अश्लीलता, नग्नता और हिंसा रेप की घटनाओं को बढ़ावा देती है. कई मामलों में जब लड़के लड़कियों का प्रेम संबंध खुलकर सामने आ जाता है तो उसे रेप कह दिया जाता है.

मुलायम सिंह यादव, सपा सुप्रीमो: लड़के-लड़कियों में जब मतभेद हो जाते हैं तो लड़की बयान दे देती है कि उसका रेप किया गया. उन तीन बेचारे लड़कों को फांसी दे दी गई. बताइए रेप के लिए भी फांसी होगी क्या? लड़के हैं, लड़कों से गलती हो जाती है. हम ऐसे कानून बदलने की कोशिश करेंगे.

बाबूलाल गौर, मंत्री, म.प्र. सरकार: विदेशी कल्चर भारत के लिए ठीक नहीं है. विदेश में महिलाएं जींस और टी-शर्ट पहनती हैं, दूसरे मर्दों के साथ डांस करती हैं, शराब भी पीती हैं. पर ये उनकी संस्कृति है. ये उनके लिए ठीक है, भारत के लिए नहीं.

सत्यपाल सिंह, पूर्व मुंबई पुलिस कमिश्नर और अब BJP सांसद: सेक्स एजुकेशन जिन देशों में है, वहां महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़े हैं.

रमेश बैस, बीजेपी सांसद: बड़ी लड़कियों और महिलाओं का रेप तो समझ में आता है लेकिन अगर कोई बच्ची के साथ रेप करे तो यह घिनौना अपराध है और ऐसा करने वालों को फांसी होनी चाहिए.

अबू आजमी, सपा नेता: आप पेट्रोल और आग को एक साथ रखेंगे तो वह जलेगा ही. 'नंगेपन' को रोकने के लिए कानून होना चाहिए. कम कपड़े पहनने पर भी प्रतिबंध लगना चाहिए. मैं दिल्ली गैंगरेप के आरोपियों को फांसी दिए जाने के पक्ष में हूं पर एक कानून ऐसा भी होना चाहिए जो महिलाओं के छोटे कपड़ों पर भी लगाम लगाए.

कैलाश विजयवर्गीय, बीजेपी नेता: जब सीताजी ने लक्ष्मण रेखा पार की थी, तभी उनका अपहरण हुआ था. अगर वह लक्ष्मण रेखा पार करती हैं तो सीताहरण होगा ही, क्योंकि इतने रावण घूम रहे हैं.

ओम प्रकाश चौटाला, INLD: रेप की घटनाओं पर लगाम लगाने और महिलाओं के खिलाफ अपराध रोकने में बाल विवाह कारगर हो सकते हैं.

मोहन भागवत, प्रमुख, आरएसएस: भारत में नहीं, इंडिया में होते हैं बलात्कार. प देश के गांवों और जंगलों में देखें जहां कोई सामूहिक बलात्कार या यौन अपराध की घटनाएं नहीं होतीं. यह शहरी इलाकों में होते हैं. महिलाओं के प्रति व्यवहार भारतीय परंपरागत मूल्यों के आधार पर होना चाहिए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें