scorecardresearch
 

इस घटना के बाद मुकेश अंबानी के बेटे ने लिया था वजन कम करने का संकल्प

इंडिया टुडे कॉन्क्लेव 2018 में 'द ग्रेट इक्वेलाइजर: स्पोर्ट्स ऐंड एजुकेशन फॉर ऑल' थीम पर सत्र को संबोधि‍त करते हुए रिलायंस फाउंडेशन की चेयरपर्सन एवं फाउंडर नीता अंबानी ने खुद यह कहानी बताई.

अनंत अंबानी अनंत अंबानी

देश के सबसे धनी और दिग्गज कारोबारी मुकेश अंबानी के छोटे बेटे अनंत अंबानी कभी मोटापे के शिकार थे. उनका वजन काफी ज्यादा था. लेकिन उनके साथ कुछ ऐसी घटनाएं हुईं कि आखिर उन्होंने एक दिन अपना वजन कम करने का संकल्प लिया और उसे करके दिखाया.

इंडिया टुडे कॉन्क्लेव 2018 में 'द ग्रेट इक्वेलाइजर: स्पोर्ट्स ऐंड एजुकेशन फॉर ऑल' थीम पर सत्र को संबोधि‍त करते हुए रिलायंस फाउंडेशन की चेयरपर्सन एवं फाउंडर नीता अंबानी ने खुद यह कहानी बताई.

नीता अंबानी ने कहा, 'मैं और मेरा बेटा मोटापे के शिकार थे. आप जानते हैं कि ऐसे में बच्चों को लोग चिढ़ाते हैं. उसे सोशल मीडिया पर वेट के लिए ट्रॉल किया जाता है. एक मां के रूप में मेरे लिए यह परेशानी की बात थी.'

उन्होंने कहा, 'एक बार मैंने अनंत से कहा कि मुंबई इंडियन्स की टीम आईपीएल में जीतेगी तो उसे ट्रॉफी लेने के लिए जाना होगा. उसने ऐसा किया, लेकिन उसके बाद उसे वजन के लिए सोशल मीडिया पर ट्रॉल कर दिया गया.'

नीता ने कहा, 'लेकिन वह काफी मजबूत लड़का है. 18 साल की उम्र में उसने कहा कि मुझे वेट कम करना है. वह रोज 23 किलोमीटर तक पैदल चला, उसने कठोर डाइट फॉलो किया और आखिरकार उसने 118 किलो वजन घटाकर दिखा दिया. मैं अपने बच्चों को ताकत, दृढ़ता और साहस देना चाहती हूं कि वे दुनिया का सामना करें.'

मुकेश और नीता अंबानी के छोटे बेटे अनंत अंबानी के बदले रूप को देखकर हर कोई हैरान रह गया था. उनके 21वें जन्मदिन के मौके पर एक शानदार पार्टी हुई. पार्टी तो अच्छी थी ही, लेकिन आकर्षण का केंद्र रहे बर्थडे ब्वॉय अनंत, जिन्होंने कुछ ही महीनों में 118 किलोग्राम वजन कम करके सबको चौंका दिया था.

आखिर उनके मोटापे का कारण क्या था?

अनंत को क्रॉनिक अस्थमा के चलते हाई डोज की दवाएं लेनी पड़ती थीं. जिसके चलते उन्हें मोटापे की शिकायत हो गई थी.

कैसे हुई शुरुआत?

मोटापा कम करने के लिए ज्यादातर लोग दवाइयों को प्राथमिकता देते हैं, कुछ डाइटिंग करते हैं तो कुछ सर्जरी का सहारा लेते हैं. लेकिन अनंत ने यह तय किया कि वो नेचुरल तरीके से वजन कम करेंगे. भले ही इसमें समय लगे, लेकिन वह कोई भी ट्रीटमेंट नहीं लेंगे और खुद से ही वजन कम करेंगे.

एक तय और बैलेंस डाइट के अलावा अनंत हर रोज 23 किलोमीटर पैदल चलते थे. इस दौरान उन्होंने संयम बनाए रखा क्योंकि 118 किलो वजन कम कर पाना मजाक की बात नहीं है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें