scorecardresearch
 

नितिन गडकरी ने सुनाई गोवा में सरकार बनाने वाली उस रात की पूरी कहानी

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने मोदी सरकार के तीन साल पूरे होने पर 'आजतक एडिटर्स राउंड टेबल' कार्यक्रम में शिरकत की. इस दौरान उन्होंने अपने मंत्रालय से लेकर तमाम राजनीतिक सवालों का जवाब दिया.

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने मोदी सरकार के तीन साल पूरे होने पर 'आजतक एडिटर्स राउंड टेबल' कार्यक्रम में शिरकत की. इस दौरान उन्होंने अपने मंत्रालय से लेकर तमाम राजनीतिक सवालों का जवाब दिया. गडकरी ने कम सीट होने के बावजूद गोवा में बीजेपी की सरकार बनाने की पूरी कहानी भी सुनाई. उन्होंने बताया कि 11 मार्च की पूरी रात बिना सोए कैसे सरकार बनाने की सफल कोशिश करते रहे.

मैं डील नहीं करता
नितिन गडकरी ने कांग्रेस के आरोपों को सिरे से नकारा. उन्होंने पैसों से विधायक खरीदने के आरोपों को निराधार बताया. गडकरी ने कहा, 'मैं डील करने वाला आदमी नहीं हूं. डील और पैसे-वैसे का काम मैं नहीं करता हूं.'

गडकरी ने बताया कि 11 मार्च को शाम 5 बजे पार्टी अध्यक्ष अमित शाह जी ने मुझे फोन किया. उन्होंने पूछा कि गोवा में क्या करना है. मैंने जवाब दिया कि हमें सिर्फ 13 सीटें मिलीं हैं और हमें हार स्वीकार करनी चाहिए. जबकि अमित शाह ने कहा कि मैंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोल दिया है और गोवा में सरकार बनानी है. इसके बाद मैं अमित शाह जी से मिलने उनके घर गया. जिसके बाद उन्होंने मुझे गोवा जाने के लिए कहा.

रात डेढ़ बजे गोवा पहुंचा
अमित शाह के निर्देश के बाद नितिन गडकरी गोवा के लिए गए. गडकरी ने बताया कि, 'रात साढ़े 12 बजे वो गोवा पहुंच गए और डेढ़ बजे मैं होटल पहुंचा. धवालीकर बहुत नाराज थे. मैंने बोला कि क्यों नाराज हो. उन्होंने मंत्रीपद की कंडीशन रखी. मैंने बाकी निर्दलीय विधायकों को भी बुलाया. विधायक सरदेसाई को भी बुलाया. पांच साल कांग्रेस ने उसे काफी टॉर्चर किया. उसके लिए यूपी से पहलवान ब्रजेश सिंह आया था, वो उसका दोस्त है. उन दोनो ने कंडीशन रखी कि अगर मनोहर पर्रिकर सीएम बनते हैं तो वो सपोर्ट करेंगे.

गोवा जाना चाहते थे पर्रिकर
नितिन गडकरी ने बताया कि मनोहर पर्रिकर को सीएम बनाने के सवाल पर मैंने अमित भाई को रात के पौने तीन बजे फोन किया. जिस पर उन्होंने पूछा कि मनोहर तैयार हैं क्या? मैंने कहा, मेरे बराबर में बैठा है, पूछता हूं. इस पर पर्रिकर ने कहा कि पार्टी जो फैसला ले वो तैयार हैं. गडकरी ने बताया कि वैसे पर्रिकर की मनोस्थिति देखकर लग रहा था कि वो तैयार हैं.

मैंने अमित जी से पूछा कि क्या आप तैयार हैं. उन्होंने कहा कि हां, मैं तैयार हूं. उन्होंने कहा कि पीएम से बात करके सुबह आठ बजे फोन करता हूं. उन्होंने एक बार फिर मनोहर से बात करने के बाद फैसला लेने के लिए कहा. और इस तरह से गोवा में सरकार बन गई.

नितिन गडकरी ने ये भी कहा कि सदन में मुझे कांग्रेस नेताओं ने गोवा में विलेन का रोल निभाने वाला बताया तो मैंने जवाब दिया कि जब आपका हीरो सो रहा था तब हम काम कर रहे थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें