scorecardresearch
 

अंतरिक्ष में भारत की धूम, ब्रिटेन के 5 उपग्रहों का 10 जुलाई को करेगा प्रक्षेपण

भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी अब तक के सबसे बड़े व्यावसायिक मिशन के तहत ब्रिटेन के पांच उपग्रहों को कक्षा में स्थापित करने के लिए पूरी तरह से तैयार है, जिन्हें लेकर एक भारतीय रॉकेट श्रीहरिकोटा से 10 जुलाई को उड़ान भरेगा.

X
Symbolic Image Symbolic Image

भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी अब तक के सबसे बड़े व्यावसायिक मिशन के तहत ब्रिटेन के पांच उपग्रहों को कक्षा में स्थापित करने के लिए पूरी तरह से तैयार है, जिन्हें लेकर एक भारतीय रॉकेट श्रीहरिकोटा से 10 जुलाई को उड़ान भरेगा.

भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी ने शनिवार को यह जानकारी दी. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के मुताबिक, उसका ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान (पीएसएलवी) 10 जुलाई को पांचों उपग्रहों को कक्षा तक ले जाएगा.

आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा अंतरिक्ष केंद्र से रात लगभग 10 बजे एक्सएल संस्करण का चार इंजनों वाला पीएसएलवी रॉकेट उपग्रहों को लेकर रवाना होगा. 62.5 घंटे का काउंटडाउन 8 जुलाई को सुबह लगभग 7.30 बजे शुरू होगा.

पांच उपग्रहों में से तीन एक ही तरह के ऑप्टिकल अर्थ ऑब्जर्वेशन उपग्रह हैं, जिनका वजन 447 किलोग्राम है. इन्हें 647 किलोमीटर के सूर्य समकालिक कक्षा में स्थापित किया जाएगा. अन्य दो उपग्रह सीबीएनटी-1 हैं, जिनका वजन 91 किलोग्राम है और ये भी ऑप्टिकल अर्थ ऑब्जर्वेशन टेक्नोलॉजी डेमोंस्ट्रेशन माइक्रो सेटेलाइट हैं.

इनपुट- IANS

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें