scorecardresearch
 

चीन बॉर्डर पर 3 भारतीय जांबाज शहीद, ओवैसी बोले- मोदी सरकार ले शहादत का बदला

AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि शहीदों के परिवार के साथ मेरी पूरी संवेदनाएं हैं. सरकार को सुनिश्चित करना चाहिए कि उनका बलिदान व्यर्थ ना जाए.

AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (फाइल फोटो) AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (फाइल फोटो)

  • कहा- शहीदों के परिवार के साथ मेरी संवेदनाएं
  • सरकार सुनिश्चित करे व्यर्थ नहीं जाएगा बलिदान

भारत-चीन के बीच LAC पर गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प को लेकर AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी का बयान आया है. उन्होंने कहा कि इस झड़प में तीन बहादुर शहीदों के साथ देश खड़ा है. शहीदों के परिवार के साथ मेरी पूरी संवेदनाएं हैं.

ओवैसी ने कहा कि बॉर्डर पर कमांडिंग ऑफिसर सामने से अगुवाई कर रहे थे और सरकार को इनकी शहादत का बदला लेना चाहिए. साथ ही सुनिश्चित करना चाहिए कि उनका बलिदान व्यर्थ ना जाए.

बता दें कि सोमवार रात को दोनों देशों की सेनाओं के बीच हिंसक झड़प हुई थी. इस झड़प में भारतीय सेना के एक अफसर और दो जवान शहीद हो गए. ये घटना तब हुई जब सोमवार रात को गलवान घाटी के पास दोनों देशों के बीच बातचीत के बाद सबकुछ सामान्य होने की स्थिति आगे बढ़ रह थी.

भारत-चीन सीमा पर भिड़ंत में क्यों नहीं होती फायरिंग, ये समझौता है वजह

इस घटना के बाद चीनी विदेश मंत्रालय का आधिकारिक बयान सामने आया. बीजिंग ने उलटे भारत पर घुसपैठ करने का आरोप लगाया. अंतरराष्ट्रीय समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक, बीजिंग का आरोप है कि भारतीय सैनिकों ने बॉर्डर क्रॉस करके चीनी सैनिकों पर हमला किया था.

चीनी विदेश मंत्रालय की ओर से कहा गया कि भारत ऐसी स्थिति में एकतरफा कार्रवाई ना करे. बताजा जा रहा है कि झड़प में चीन की सेना को भी नुकसान पहुंचा है. चीन की तरफ 5 सैनिकों की मौत हुई है. हालांकि चीन की तरफ से अभी तक इस बात की पुष्टि नहीं की गई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें