scorecardresearch
 

भारत-पाकिस्‍तान के बीच शांति वार्ता जल्‍द

न्यूयार्क में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह व पाकिस्तानी राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी एक-दूसरे से मिलने के बाद शांति वार्ता जल्द शुरू करने पर राजी हुए.

X
मनमोहन सिंह और आसिफ अली जरदारी
मनमोहन सिंह और आसिफ अली जरदारी

भारत और पाकिस्‍तान के बीच शांति वार्ता शुरू होगी.न्यूयार्क के मिलेनियम होटेल में जब प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पाकिस्तानी राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी मिलने के बाद दोनों देश शांति वार्ता जल्द शुरू करने पर राजी हुए.

वार्ता की राह तैयार करने के लिए तीन महीने के भीतर भारत और पाकिस्तान के विदेश सचिव आपस में मिलेंगे. इस बातचीत के दौरान दोनों नेताओं ने माना कि हाल के महीनों में दोनों देश के बीच शांति प्रक्रिया को झटका लगा है, जबकि दोनों देश जिस द्विपक्षीय रिश्ते की ओर बढ़ना चाहते हैं, उसमें हिंसा, दुश्मनी और आतंकवाद की कोई जगह नहीं है. इसके खिलाफ दोनों पड़ोसी सख्ती से लड़ेंगे.

इस मुलाकात में जरदारी ने मनमोहन को भरोसा दिलाया कि पाकिस्तान जनवरी 2004 में किए वादे पर कायम है. दोनों नेताओं ने कश्मीर समेत विवाद के सभी मसलों के शांतिपूर्ण समाधान का इरादा जताया. साथ ही आतंकवाद के खिलाफ रणनीति और काबुल में भारतीय दूतावास पर हाल में हुए हमले पर दोनों देशों के बीच अगले महीने चर्चा होगी.

इस मुलाकात में जो एक और चीज सामने आई है, वो है दोनों देशों के बीच व्यापार मार्ग खोलने का फैसला. अगले महीने 21 तारीख को श्रीनगर-मुजफ्फराबाद और पूंछ-रावलकोट व्यापार मार्ग को खोला जाएगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें