scorecardresearch
 

बधाई के बाद पीएम मोदी को पाकिस्तान बुलाने के मूड में इमरान खान

इमरान ने नवाज शरीफ की पार्टी को परास्त करते हुए पाकिस्तान आम चुनाव में सबसे ज्यादा सीटों पर जीत दर्ज की है. इमरान ने 11 अगस्त को प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने का ऐलान किया है और अब उनकी पार्टी पीएम मोदी को शपथग्रहण समारोह में बुलाने पर विचार कर रही है.

X
पीएम मोदी के साथ इमरान खान (फाइल फोटो)
पीएम मोदी के साथ इमरान खान (फाइल फोटो)

पाकिस्तान में नई सरकार का गठन होने जा रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को तहरीक-ए इंसाफ पाकिस्तान के मुखिया इमरान खान को सबसे ज्यादा सीटें जीतने पर बधाई दी. जिसके बाद अब इस बात की अटकलें लगाई जा रही हैं कि क्या इमरान खान एक कदम और बढ़ाते हुए पीएम मोदी को अपने शपथ ग्रहण समारोह में बुलाएंगे?

दरअसल, पाकिस्तान के संसदीय चुनावों में सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी पीटीआई प्रधानमंत्री पद के लिए अपने प्रमुख इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (दक्षेस) के नेताओं को आमंत्रित करने पर विचार कर रही है. न्यूज एजेंसी भाषा ने पार्टी के एक अधिकारी की जानकारी के आधार पर यह खबर दी है.

इमरान (65) की अगुवाई वाली पीटीआई 25 जुलाई को पाकिस्तानी संसद के निचले सदन नेशनल असेंबली के लिए हुए चुनावों में सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी है. लेकिन अपने दम पर सरकार बनाने के लिए जरूरी संख्याबल अब भी उसके पास नहीं है. पीटीआई प्रमुख ने कल कहा था कि वह 11 अगस्त को प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे.

इमरान की पार्टी पीटीआई के एक नेता ने न्यूज एजेंसी को बताया, 'तहरीक-ए-इंसाफ की कोर कमेटी मोदी सहित दक्षेस देशों के प्रमुखों को आमंत्रित करने पर विचार कर रही है और इस पर जल्द ही फैसला लिए जाने की संभावना है.'

बता दें कि चुनाव जीतने के बाद इमरान खान ने भारत के एक कदम पर दो कदम आगे बढ़ाने की बात कही थी. जिसके बाद सोमवार को जब इमरान खान ने 11 अगस्त को पीएम पद की शपथ लेने का ऐलान किया तो पीएम मोदी ने फोन कर उन्हें जीत की बधाई दी.

पीटीआई ने इमरान को बधाई देने के लिए मोदी द्वारा किए गए फोन को स्वागतयोग्य संकेत करार दिया ताकि दोनों देशों के बीच संबंधों में एक नया अध्याय शुरू किया जा सके. इमरान की पार्टी के प्रवक्ता फवाद चौधरी ने भी शपथ-ग्रहण समारोह में मोदी को आमंत्रित करने की संभावना से इनकार नहीं किया. उन्होंने कहा, 'आने वाले दिनों में विदेश मंत्रालय से विचार-विमर्श करके पार्टी की ओर से फैसला किया जाएगा.'

पीएम मोदी ने क्या कहा था

पीएम मोदी ने कल इमरान को फोन करके आम चुनावों में उनकी पार्टी की जीत की बधाई दी थी और उम्मीद जताई थी कि 'पाकिस्तान और भारत द्विपक्षीय संबंधों में एक नया अध्याय शुरू करने के लिए काम करेंगे.'

इमरान ने शुभकामनाएं देने पर मोदी का शुक्रिया अदा किया और इस बात पर जोर दिया कि बातचीत के जरिए विवाद सुलझाए जाने चाहिए.

बता दें कि 2014 में जब नरेंद्र मोदी ने पीएम पद की शपथ ली थी, तो तमाम पड़ोसी मुल्कों के साथ उन्होंने पाकिस्तान के तत्कालीन प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को भी आमंत्रित किया था. यहां तक कि नवाज शरीफ को जन्मदिन की बधाई देने पीएम मोदी अचानक पाकिस्तान पहुंच गए थे. ऐसे में अब देखना होगा क्रिकेट के मैदान अपनी टीम को लीड करने वाले इमरान खान अब पाकिस्तान की कमान मिलने पर भारत के साथ क्या रवैया अपनाते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें