scorecardresearch
 

IMA पोंजी स्कैम: दुबई से लौटा मंसूर खान, पूछताछ में लिए बड़े लोगों के नाम

करोड़ों की पोंजी योजना घोटाला के मुख्य आरोपी और आईएमए ज्वैलर्स के संस्थापक मंसूर खान ने शुक्रवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की पूछताछ में कुछ बड़े लोगों के नाम लिए हैं.

IMA के संस्थापक मंसूर खान IMA के संस्थापक मंसूर खान

करोड़ों की पोंजी योजना घोटाला के मुख्य आरोपी और आईएमए ज्वैलर्स के संस्थापक मंसूर खान ने शुक्रवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की पूछताछ में कुछ बड़े लोगों के नाम लिए हैं. दिल्ली पुलिस ने शुक्रवार देर रात 2 बजे मंसूर खान को दुबई से आने के बाद नई दिल्ली हवाई अड्डे पर गिरफ्तार किया था. मंसूर खान पर बेंगलुरु में करोड़ों की वित्तीय धोखाधड़ी करने का आरोप है. वह एक महीने से फरार था और उसके दुबई में होने की जानकारी मिली थी, जिसके बाद उसे वापस भारत आने के लिए कहा गया था.

एसआईटी अधिकारी मोहम्मद ने यहां आईएएनएस को बताया, ‘मंसूर खान को एयर इंडिया की उड़ान संख्या 916 से दुबई से यहां आने के बाद नई दिल्ली अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर देर रात करीब 2 बजे हिरासत में ले लिया गया. उसे जल्द ही हमारे अधिकारियों द्वारा बेंगलुरु लाया जाएगा.’ अधिकारी ने कहा, ‘उसने कल (गुरुवार) एक वीडियो साझा किया था, जिसमें उसने दावा किया था कि वह 24 घंटों में भारत वापस आएगा.’

मंसूर ने जारी किया वीडियो

मंसूर खान ने गुरुवार को एक वीडियो जारी भारत लौटने की बात कही थी. मंसूर खान ने कहा था कि मैं अगले 24 घंटे में भारत लौटूंगा, मुझे भारतीय न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है. उसने कहा था कि भारत छोड़ना उसकी सबसे बड़ी गलती थी लेकिन हालात ऐसे बन गए थे कि देश छोड़कर जाना पड़ा. मंसूर ने कहा था, 'मैं ये भी नहीं जानता कि मेरा परिवार कहा है? उसने देश वापस आने के बाद सबसे पहले बेंगलुरु में अपने परिवार से मिलने की इच्छा जाहिर की थी.'

क्या है पूरा मामला

मंसूर खान पर इस्लामिक बैंक के नाम पर करीब 30 हजार मुस्लिम लोगों को ठगने का आरोप है. मंसूर खान पर आरोप है कि वह करीब 2000 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी कर दुबई भाग गया था. आईएमए ने अपनी स्कीम में 14 से 18 फीसदी के भारी रिटर्न का लालच देकर हजारों निवेशक को धाखा दिया था जिसके बाद करीब 25 हजार लोगों ने धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज कराई थी. पुलिस ने आईएमए जयनगर के दफ्तर में और मंसूर खान के घर में छापा मारा था. जिसमें करोड़ों रुपये की ज्वैलरी और दस्तावेज जब्त किए थे.

गौरतलब है कि धोखाधड़ी के इस मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने मंसूर खान के खिलाफ जून में तीसरा समन जारी किया था. इसके तहत मंसूर खान को 3 जुलाई को ईडी के सामने पेश होने के लिए कहा गया था. बता दें कि पोंजी स्कीम एक तरह की धोखाधड़ी है जिसमें निवेशकों को लुभाने के लिए नए निवेशकों से लिए गए पैसे पुराने निवेशकों को लाभ के तौर पर दे दिया जाता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें