scorecardresearch
 

कांगो के छात्र की हत्या से भड़के दक्षिण अफ्रीकी दूत, विदेश मंत्री ने किया सुरक्षा का वादा

विदेश मंत्री ने ट्वीट करके कहा, 'मैं अफ्रीकी छात्रों को आश्वस्त करती हूं कि यह एक दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण घटना है, जिसमें स्थानीय गुंडे शामिल हैं.'

राजधानी दिल्ली नें कांगो के एक छात्र की हत्या के बाद भारत सरकार अफ्रीकी डिप्लोमैटिक कम्युनिटी के कड़े सवालों का सामना कर रही है. अफ्रीकी दूतों ने सरकार के गुरुवार के 'अफ्रीका डे' समारोह का बहिष्‍कार करने की घोषणा की है. वहीं, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अफ्रीकी छात्रों को सुरक्षा देने वादा किया है.

विदेश मंत्री ने ट्वीट करके कहा, 'मैं अफ्रीकी छात्रों को आश्वस्त करती हूं कि यह एक दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण घटना है, जिसमें स्थानीय गुंडे शामिल हैं. दिल्ली के उपराज्यपाल से भी मैंने बात की है और मामले को फास्ट ट्रैक कराने को कहा है. वह इस मामले में तत्काल एक्शन लेंगे.' उन्होंने यह भी कहा कि विदेशी नागरिकों के खिलाफ हो रही घटनाओं को लेकर सरकार एक जागरूकता कार्यक्रम भी शुरू करेगी.

एक सप्ताह के लिए कार्यक्रम टालने की मांग
अफ्रीकी दूतों का कहना है कि भारत को पहले 'नस्लीय और अफ्रीकी फोबिया' जैसी समस्याओं का समाधान करना चाहिए. अफ्रीकी देशों ने मामले की जांच के कोई प्रगति होने को लेकर तीखी नाराजगी जताई है इन दूतों का कहना है कि एक सप्ताह लंबे इस समारोह को फिलहाल टाल दिया जाए.

PM मोदी ने भी की थी अपील
अफ्रीकी देशों ने अब भारत में सुरक्षा का पक्का वादा मिलने पर ही छात्रों को भेजने की बात कही है. बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ज्यादा से ज्यादा अफ्रीकी छात्रों को भारत आकर शिक्षा लेने की अपील की थी.

पीट-पीटकर हुई थी हत्या
बीते शुक्रवार को कांगो के 29 वर्षीय छात्र मसोंदा केटाडा ओलिवर की दक्षिण दिल्ली के वसंत कुंज इलाके में पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी. बताया जा रहा है कि एक ऑटो रिक्‍शा 'हायर' करने को लेकर विवाद हुआ था. जिसके बाद कथित तौर पर तीन लोगों ने उसका पीछा किया और पीट-पीट कर हत्या कर दी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें