scorecardresearch
 

PM के साथ नेपाल जाएगा उनका 'धर्मपुत्र' जीत बहादुर, मोदी ने किया ट्वीट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को नेपाल दौरे पर जा रहे हैं. ये नेपाल दौरा उनके लिए राजनीतिक पहलू से तो खास है ही साथ ही अपने धर्मपुत्र को उसके माता-पिता से मिलवाने के लिए भी बेहद खास है.

X
नरेंद्र मोदी और धर्मपुत्र जीतबहादुर नरेंद्र मोदी और धर्मपुत्र जीतबहादुर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार नेपाल में जीत बहादुर को उसके घरवालों को सौंपेंगे. मोदी ने खुद ट्वीट कर इसकी जानकारी दी. नेपाल का रहनेवाला जीत बहादुर भटक कर भारत आ गया था और किसी तरह मोदी के पास पहुंच गया था. नेपाल जाने से पहले प्रधानमंत्री ने ट्विटर पर लिखा कि उन्हें खुशी है कि वो जीत बहादुर को कल उसके घरवालों को सौंप सकेंगे.

उत्‍साहित नरेंद्र मोदी ने दौरे से पहले जीत बहादुर को लेकर कई ट्वीट भी किए.

नरेंद्र मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा, 'मुझे खुशी है कि कल मैं स्‍वयं जीतबहादुर के माता-पिता को उनका बेटा सौंपूंगा.'

इसके अलावा मोदी ने ट्वीट पर यह भी कहा कि इस यात्रा से उनकी व्‍यक्तिगत भावनाएं भी जुड़ी हैं.

आपको बता दें कि नरेंद्र मोदी सावन के आखिरी सोमवार को नेपाल के पशुपतिनाथ मंदिर में भगवान शिव के दर्शन और उनका अभिषेक करने जा रहे हैं. उनके साथ उनका धर्मपुत्र भी जा रहा है.

यही नहीं, जीत के गांव वाले तो नरेंद्र मोदी से मिलकर उनके प्रति आभार जताने के लिए भी बेताब हैं. जीत बहादुर की कहानी नेपाल में आम हो गई है. जीत बहादुर की वजह से ही ये गांव भी चर्चा में आ गया है. आखिरकार ये नरेंद्र मोदी के धर्मपुत्र का पुश्तैनी गांव है. नेपाल का रहनेवाला जीत बहादुर भटक कर भारत आ गया था और किसी तरह मोदी के पास पहुंच गया था. खेलने कूदने की उम्र में ही गरीबी ने जीत बहादुर को घर बार छोड़ने के लिए मजबूर कर दिया था. वो दस साल का था, जब घर से निकला था. मेहनत मजदूरी करके जी रहा है, लेकिन वो दुनिया उसे रास नहीं आई. घर लौटने के लिए वो एक ट्रेन में बैठ गया. भूल से उसने गलत ट्रेन पकड़ ली. घर का रास्‍ता तो वह भटक गया, लेकिन किस्मत बिल्कुल सही जगह लेकर आई थी जीत बहादुर को. नरेंद्र मोदी ने उसका खूब ख्याल रखा. अच्छे स्कूल में दाखिला करवाया, छुट्टियों में घूमने फिरने का इंतजाम करवाया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें