scorecardresearch
 

गृह मंत्री ने की बैठक, PAK के खि‍लाफ पूरी प्लानिंग के साथ कदम उठाएगी सरकार

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने सुबह 10.30 बजे मीटिंग बुलाई है. बैठक के दौरान राजनाथ सिंह हमले की समीक्षा करेंगे और साथ जम्मू-कश्मीर के मौजूदा हालात पर चर्चा करेंगे.

X
राजनाथ सिंह लेंगे राज्य के हालात का जायजा राजनाथ सिंह लेंगे राज्य के हालात का जायजा

उरी हमले पर पीएम मोदी की बैठक के बाद भारत सरकार एक्शन मोड में आ गई है. एक तरफ गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने हमले को लेकर समीक्षा बैठक बुलाई, तो दूसरी तरफ संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान को घेरने के लिए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भी तैयारी कर ली है. केंद्रीय मंत्री रिजिजू ने कहा कि सरकार पूरी प्लानिंग के साथ कार्रवाई करेगी.

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार सुबह 10.30 बजे मीटिंग बुलाई. बैठक के दौरान राजनाथ सिंह ने उरी आतंकी हमले की समीक्षा की और साथ ही जम्मू-कश्मीर के मौजूदा हालात पर भी चर्चा हुई. गृहमंत्री ने अपना रूस दौरा रद्द कर दिया है और आतंकियों की इन मंसूबों को कैसे नाकाम किया जाए और उरी हमले का कैसे जवाब दिया जाए इस पर माथापच्ची चाल रही है. यही वजह है की विदेश सचिव जय शंकर भी गृह मंत्री की बुलाई बैठक में मौजूद थे.

पीएम के आश्वासन के बाद बैठक
मंगलवार सुबह 10:30 बजे गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने नार्थ ब्लॉक में बैठक बुलाई, जिसमें विदेश सचिव के अलावा आईबी डायरेक्टर और रॉ चीफ के साथ ही एनएसए अजीत डोभाल भी मौजूद थे. लगभग एक घंटे चली इस बैठक में सुरक्षा की समीक्षा की गई और जम्मू कश्मीर के हालात पर खास तौर पर चर्चा हुई. 18 जवानों की शहादत के कारण देश में आक्रोश है. प्रधानमंत्री मंत्री ने पहले ही आश्वासन दिया है किआतंकी हमले की जवाबी कार्रवाई की जाएगी. लेकिन कार्रवाई का मापदंड क्या होगा, इस पर अभी सरकार तमाम विशेषज्ञ और जानकारों से सलाह कर रही है.

एक तरफ केंद्र सरकार अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान को घेरने की रणनीति बना रही है, जिसके बारे में विदेश सचिव को जानकार दी गई. दूसरी तरफ बैठक में जम्मू कश्मीर के हालात, लाइन ऑफ कंट्रोल में परिस्थिति और सरहद पार से आतंकियों की घुसपैठ पर खासतौर पर चर्चा हुई.

बयानबाजी से बचना चाहिए: रिजिजू
केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरन रिजिजू ने कहा, 'हमें लोगों का इमोशन समझते हुए भी बयानबाजी नहीं करनी चाहिए. देश के लोगों की भावनाएं इससे जुड़ी हुई हैं. ये ऐसी चीज नहीं है जहां घोषणा करके कार्रवाई करनी चाहिए. इसको समझकर, पूरा प्लान करके सरकार कदम उठाएगी.'

'नवाज के कंधे से बंदूक चला रहे हैं राहील शरीफ'
विदेश राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह ने 'आज तक' से बातचीत में बताया कि यूनाइटेड नेशंस जनरल असेंबली (UNGA) के दौरान सुषमा स्वराज पाकिस्तान के चेहरे का नकाब हटाएंगी. वीके सिंह ने कहा कि पाकिस्तान आतंकवाद को समर्थन देने वाला देश है. पाकिस्तानी आर्मी चीफ जनरल राहील शरीफ नवाज शरीफ के कंधे पर रखकर बंदूक चला रहे हैं.

'कश्मीर द्विपक्षीय मुद्दा'
वीके सिंह ने बताया कि UNGA में पाकिस्तान द्वारा कश्मीर का मुद्दा उठाने का कोई मतलब नहीं है. कश्मीर द्विपक्षीय मुद्दा है. पाकिस्तानी आतंकवाद का जवाब भारत प्रभावशाली ढंग से देगा. पीएम मोदी ने सख्त कदम उठाए हैं.

संयुक्त राष्ट्र में सुषमा संभालेंगी कमान
खबरों की माने तो विदेश मंत्री सुषमा स्वराज संयुक्त राष्ट्र में अपने संबोधन में उरी हमले का मुद्दा उठाकर पाकिस्तान को घेरेंगी. 26 सितंबर को सुषमा UNGA को संबोधित करने वाली हैं. इसके साथ ही सभा से इतर वहां मौजूद अन्य देशों के विदेश मंत्रियों से भी सुषमा मुलाकात करेंगी ताकि कश्मीर और भारत के अन्य हिस्सों में पाकिस्तान की करतूतों का खुलासा किया जा सके.

अन्य देशों के समर्थन के लिए भारतीय राजदूतों ने की मदद
बता दें कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत को समर्थन दिलवाने के लिए दुनिया भर में भारतीय राजदूत काफी प्रयास कर रहे हैं. सबसे पहले यूके में भारत के राजदूत नवतेज सरना ने यूके के विदेश मंत्री बोरिस जॉनसन और सुषमा स्वराज की फोन पर बातचीत करवाई. फोन पर ही बोरिस जॉनसन ने हमलों का विरोध किया. इसके बाद सोमवार को कई देशों के विदेश मंत्रालयों और नेताओं ने बयान जारी कर उरी आतंकी हमले की निंदा भी की है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें