scorecardresearch
 

हिन्दुस्तानी अवामी मोर्चा के नेता-कार्यकर्ता JDU में शामिल

हिन्दुस्तानी अवामी मोर्चा के नेता नरेंद्र सिंह के नेतृत्व में पार्टी के अधिकतर समर्थकों का जदयू में विलय हो गया. इस अवसर पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा, नरेंद्र सिंह से हमारे पुराने संबंध हैं, वह कुछ दिनों के लिए छुट्टी पर गए थे, फिर लौट आए हैं. हम फिर मिलकर काम करेंगे. राजनीति में ये सब चलता रहता है.

हिन्दुस्तानी अवामी मोर्चा के नेता जदयू में शामिल हिन्दुस्तानी अवामी मोर्चा के नेता जदयू में शामिल

जीतनराम मांझी ने हिन्दुस्तानी अवामी मोर्चा (हम) बनाई थी, लेकिन सोमवार को उन्हें पार्टी से निकाल दिया गया और इसके बाद नरेंद्र सिंह का गुट जनता दल (यू) में शामिल हो गया. 

हिन्दुस्तानी अवामी मोर्चा के नेता नरेंद्र सिंह के नेतृत्व में पार्टी के अधिकतर समर्थकों का जदयू में विलय हो गया. इस अवसर पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा, नरेंद्र सिंह से हमारे पुराने संबंध हैं, वह कुछ दिनों के लिए छुट्टी पर गए थे, फिर लौट आए हैं. हम फिर मिलकर काम करेंगे. राजनीति में ये सब चलता रहता है.

जीतनराम मांझी ने फरवरी 2015 में बिहार के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया था, तब से नरेंद्र सिंह उनके साथ थे और उन्होंने मिलकर हम पार्टी बनाई थी. मगर जीतनराम मांझी के महागठबंधन में शामिल होने के बाद नरेंद्र सिंह फिर से जदयू के सदस्य बन गए हैं. इससे पहले वह नीतीश कुमार के मंत्रिमंडल में कृषि मंत्री थे.

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने बिहार के उपचुनाव के परिणामों पर पहली बार बोला. उन्होंने कहा, हम चुनाव नहीं लड़ना चाहते थे, लेकिन बीजेपी ने हमसे आग्रह किया था, उस वक्त पार्टी ने सोचा कि अगर हम इनकी बात नहीं मानेंगे और कल कोई परिणाम आएगा तो उसके लिए सारा आरोप इधर की आएगा. इसलिए सब जानते हुए कि क्या चुनाव में क्या होगा, हमने न लड़ना स्वीकार किया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें